चौदहवें वित्त की राशि होल्ड, सरपंच बोले- ‘काम पर असर पड़ा’… सामूहिक इस्तीफे की भी दी चेतावनी

37

चौदहवें वित्त की राशि होल्ड, सरपंच बोले- ‘काम पर असर पड़ा’… सामूहिक इस्तीफे की भी दी चेतावनी

पंकज दाऊद @ बीजापुर। जिले में पंचायतों को हर साल मिलने वाली चौदहवें वित्त की राशि पर जिला प्रशासन ने रोक लगा दी है और इसे लेकर सरपंच नाराज हैं। उनका कहना है कि राशि होल्ड हो जाने से पंचायतों के विकास कार्यो पर असर पड़ रहा है।

इस सिलसिले में सोमवार को यहां जिले के सरपंचों की बैठक सांस्कृतिक भवन में हुई। इसमें जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुड़ियम, सदस्य नीना रावतिया उद्दे, जनपद अध्यक्ष राधिका तेलम एवं अनिता तेलम के अलावा अन्य जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

यह भी पढ़ें :  सुकमा में जवानों ने ध्वस्त की नक्सली साजिश, सर्चिंग ऑपरेशन में 120 स्पाइक होल्स बरामद

Read More: कोरोना के डर से हॉस्पिटल से गायब हुए मरीज ! मेडिकल टीम ने शुरू किया डोर टू डोर सर्वे 

जनप्रतिनिधियों ने बताया कि करीब पांच माह पहले कलेक्टर ने चौदहवें वित्त की राशि पर होल्ड लगा दिया है। ग्राम पंचायत अपने आप में स्वतंत्र एजेंसी है और उसका एक अपना अधिकार क्षेत्र है। कार्ययोजना में शामिल कर पंचायत अपने काम करवा सकती है। राषि पर होल्ड लगाए जाने से पांच माह से पंचायत का काम प्रभावित हो रहा है।

यह भी पढ़ें :  फोर्स नहीं होती तो 'बुधरी' दुनिया में नहीं होती... मलेरिया से पीड़ित बुजुर्ग महिला को बीमारी का पता ही नहीं था, जवानों ने पहुंचाया अस्पताल

जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुड़ियम ने बताया कि पूरे छग में सिर्फ बीजापुर जिले में ही इस राशि पर होल्ड लगाया गया है। इससे ग्राम पंचायत के अधिकार का हनन हो रहा है। इतने संवेदनशील क्षेत्र में जनप्रतिनिधि काम को अंजाम देते हैं।

Read More:  सुकमा में नक्सली सप्लायर गिरफ्तार, विस्फोटक समान समेत 25 हजार रुपये बरामद

सरपंचों ने विधायक एवं कलेक्टर से दो दिनों में सभी खातों से होल्ड हटाने का अनुरोध किया है ताकि कामकाज बेहतर ढंग से हो सके। ऐसा नहीं होने पर सरपंचों ने सामूहिक इस्तीफे की चेतावनी दी है। सभी ब्लॉकों के सरपंच संघ के अध्यक्षों के अलावा जिला पंचायत अध्यक्ष ने एक ज्ञापन भी सौंपा है।

यह भी पढ़ें :  करोड़ों की चपत लगाकर चिट फण्ड कंपनियां हो गई चंपत... एजेंट भी हुए भूमिगत, प्रशासन ने बनाया दबाव