जनअदालत में 25 लोगों को दी मौत की सजा… नक्सली प्रवक्ता ने प्रेस नोट जारी कर ली हत्या की जिम्मेदारी

63
Hijacked ASI killed by Naxalites

जनअदालत में 25 लोगों को दी मौत की सजा… नक्सली प्रवक्ता ने प्रेस नोट जारी कर ली हत्या की जिम्मेदारी

के. शंकर @ सुकमा। छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में पिछले महीने हुई कई ग्रामीणों की हत्या के मामले में नक्सलियों का कबूलनामा सामने आया है। माओवादियों ने प्रेस नोट जारी कर इन हत्याओं की जिम्मेदारी ली है।

बता दें कि दंडकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी के प्रवक्ता विकल्प द्वारा यह प्रेस नोट जारी किया गया है। जिसमें जनअदालत लगाकर 25 लोगों की हत्या किए जाने की बात कही गई है। नक्सलियों ने इन लोगों को पुलिस का मुखबिर, भीतरघाती और गोपनीय सैनिक बताते मारने की बात स्वीकार की है।

यह भी पढ़ें :  सुकमा से सटे मलकानगिरी में फिर मिला कोरोना संक्रमित मरीज, 24 घंटे में मिले 3 पॉजिटिव केस

नक्सली प्रवक्ता के मुताबिक, जनअदालत में 12 गोपनीय सैनिक, 5 भीतरघाती और 8 पुलिस मुखबिरों को मौत की सजा दी गई है। प्रेस नोट में नक्सलियों ने गंगालूर एरिया कमेटी इंचार्ज DVC विज्जा मोडियम उर्फ बदरू पर पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाते जनअदालत में मारने की पुष्टि की है।

संगठन में गैंगवार को नकारा

नक्सलियों ने संगठन में गैंगवार के पुलिसिया दावों को सिरे से खारिज किया है। माओवादियों का आरोप है कि विज्जा की हत्या को पुलिस दो ग्रुप के बीच झगड़ा बताकर दुष्प्रचार कर रही है। बस्तर आईजी सुन्दरराज पी. समेत बीजापुर एसपी कमलोचन कश्यप और दंतेवाड़ा SP अभिषेक पल्लव मुखबिरी का जाल फैला रहे हैं। इस कार्रवाई से इन्हें बड़ा धक्का लगा है। 

यह भी पढ़ें :  सुकमा में जवानों ने ध्वस्त किया नक्सली कैम्प, मौके से हथियार व विस्फोटक बरामद