442 लोगों को मिला जमीन का मालिकाना हक, MLA मण्डावी बोले- पट्टेे के लिए चक्करदार रास्ते अब खत्म

46

442 लोगों को मिला जमीन का मालिकाना हक, MLA मण्डावी बोले- पट्टेे के लिए चक्करदार रास्ते अब खत्म

पंकज दाउद @ बीजापुर। बस्तर क्षेत्र विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं स्थानीय विधायक विक्रम शाह मण्डावी ने भूपेश सरकार के फैसले का स्वागत करते कहा है कि अब लोगों को जमीन के पट्टे पाने के लिए दफ्तरों के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं है क्योंकि उनके गांव में ही राजस्व के कर्मचारी आकर सर्वे कर रहे हैं और उन्हें जमीन का मालिकाना हक दे रहे हैं।

यहां माटवाड़ा में एक कार्यक्रम में बुधवार को विक्रम मण्डावी ने कहा कि सालों से गांव के भूमिहीन लोगों की यही मांग थी कि उन्हें काबिज भूमि का पट्टा दिया जाए। इस बात को ध्यान में रखकर सीएम भूपेष बघेल ने पहल की और काबिज भूमि का पट्टा देना शुरू किया।

यह भी पढ़ें :  पालिका चुनाव: श्यामाप्रसाद और मोहनलाल वार्ड में टिकट के सबसे ज्यादा दावेदार... भाजपा प्रत्याशियों की काट ढूंढ रही कांग्रेस

अब ना केवल आदिवासी बल्कि गांव में रहने वाले महार, धाकड़, यादव, लोहार एवं अन्य पिछड़ी जातियों को भी काबिज भूमि का पट्टा दिया जा रहा है।

पहली बार अभयारण्य क्षेत्र में बसे लोगों को काबिज भूमि का पट्टा दिया जा रहा है। इस पट्टे से धान की बिक्री, लोन, जमीन समतलीकरण, डबरी निर्माण, पौधरोपण आदि के लिए फायदा होगा। इससे किसी मामले में लोग जमानत भी ले सकेंगे।

इस मौके पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष लालू राठौर ने कहा कि 15 सालों में भाजपा सरकार ने लोगों को एक भी पट्टा नहीं दिया। उन्होंने कहा कि पहले तत्कालीन विधायक को स्थानीय लोगों से कोई मतलब नहीं था। वे हेलीकाॅप्टर से आते थे और चले जाते थे लेकिन अब इसके उलट मौजूदा विधायक विक्रम मण्डावी लोगों की समस्या को भली भांति समझते हैं और उनका हल करवाते हैं।

यह भी पढ़ें :  गांधी परिवार की SPG सुरक्षा हटाना गलत, केन्द्र सरकार ने बदले की भावना से लिया फैसला- कवासी

बविप्रा एवं जिला पंचायत की सदस्य नीना रावतिया उद्दे ने भी मौजूदा विधायक की सक्रियता की तारीफ करते कहा कि उनकी पहल पर गांवों में नल जल योजना शुरू की जा रही है। इसके अलावा नलकूप खनन भी किए जा रहे हैं। भूपेश सरकार ने महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने गोधन योजना शुरू की है। वर्मी कंपोस्ट बेचकर महिलाएं आय अर्जित कर रही हैं।

सभा में मुख्य रूप से एसडीएम एआर राना, तहसीलदार जेके पटेल, सीईओ जेआर अरकरा, कांग्रेसी संतकुमारी मण्डावी, दसरथ कुंजाम, सहदेव नेगी, ज्योति कुमार,सुखदेव नाग, लच्छूराम मौर्य, सीताराम मांझी, आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़ें :  IAS जेपी पाठक पर शादीशुदा महिला ने लगाया दुष्कर्म का आरोप, पुलिस में FIR दर्ज

442 लोगों को मिला जमीन का हक

माटवाड़ा गांव में आयोजित कार्यक्रम में 442 लोगों को जमीन का पट्टा दिया गया। इनमें माटवाड़ा के 56, कोण्डरोजी के 273, कोतरापाल के 24, टिण्डोड़ी के 71, जांगला के 17 एवं बड़े तुंगाली के एक हितग्राही को पट्टा दिया गया।

समूचे जिले में वन अधिकार पट्टों का वितरण किया जा रहा है। कुल दो हजार पट्टों का विंतरण किया जाना है। विभिन्न गांवों में सभा आयोजित कर इनका वितरण किया जा रहा है।