एक लड़की पड़ गई विधायक के पीछे ! सात माह से भेज रही थी मैसेज

9704

एक लड़की पड़ गई विधायक के पीछे ! सात माह से भेज रही थी मैसेज

पंकज दाऊद @ बीजापुर। यहां से पंद्रह किमी दूर नैशनल हाईवे पर बसी नैमेड़ पंचायत के गांव कुरसमपारा की एक लड़की सरिता कुरसम बस्तर क्षेत्र विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं स्थानीय विधायक विक्रम शाह मण्डावी के पीछे बुरी तरह पड़ गई थी। वह सात माह से उन्हें व्हॉटसएप से मैसेज कर रही थी।

आखिरकार, सरिता तब मानी, जब विधायक उनके गांव रविवार की सुबह आए और उनसे मुलाकात की। ‘ नैमेड़ की लड़की ’… इसी नाम से विधायक विक्रम मण्डावी ने सरिता के नंबर को मोबाइल पर सेव किया था।

– सरिता कुरसम के साथ विधायक।

दरअसल, 26 जुलाई 2021 से एक नंबर से उन्हें व्हॉट्सएप पर लगातार मैसेज आ रहे थे। बारहवीं पास सरिता को एक नाराजगी थी। नैमेड़ की मुख्य बस्ती से दो किमी दूर कुरसमपारा तक सड़क तो है लेकिन ये इतनी खराब है कि आना-जाना मुश्किल हो जाता है और खासकर बारिश के दिनों में।

यह भी पढ़ें :  राजमन बेंजाम के नामांकन में कांग्रेस करेगी शक्ति प्रदर्शन, सीएम भूपेश बघेल व पीसीसी चीफ मोहन मरकाम रहेंगे मौजूद

सरिता कुरसम सड़क नहीं बनने को लेकर खासी नाराज थी और इसी वजह से वह सात माह से मैसेज कर रही थी। व्यस्तता की वजह से विधायक कुरसमपारा तक नहीं जा पा रहे थे लेकिन उन्होंने शनिवार को कुरसमपारा आने का वादा किया। इस दिन भी व्यस्तता के चलते वे नहीं जा सके। तब फिर सरिता ने मैसेज किया।

– कुरसमपारा में लोगों से मुलाकात करते विक्रम मण्डावी।

विधायक ने रविवार की सुबह आने का वादा किया। सुबह करीब 11 बजे सरिता नैमेड़ में विधायक की बाट जोह रही थी। विधायक विक्रम मण्डावी वहां पहुंचे। वह अपनी दो पहिया वाहन से कुरसमपारा की ओर बढ़ी। पीछे-पीछे विधायक भी कुरसमपारा पहुंचे। उन्होंने भी सड़क की हालत देखी। उन्होंने सरिता कुरसम से वादा किया कि सड़क बन जाएगी।

यह भी पढ़ें :  कोरोना पाॅॅॅजीटिव निकलने पर दुकानदार जंगल की ओर भागा, पुलिस ने पकड़ा... परिवार के 4 अन्य सदस्य भी निकले संक्रमित
– नैमेड से कुरसमपारा की सड़क

एक सवाल के जवाब में सरिता कुरसम ने कहा कि उन्हें पूरा यकीन है कि सड़क जल्द बन जाएगी। विक्रम मण्डावी ने इस गांव में सरपंच समेत अन्य लोगों से चर्चा की और उनकी समस्या जानी।

गाड़ी रोक दी

भैरमगढ़ ब्लॉक के पिनकोण्डा में नलकूप की मांग थी। विधायक ने यहां चार बोर की मंजूरी दी। यहां जब विधायक गए तो महिलाओं ने उनकी बोरिंग गाड़ी को रोक दिया और दो नलकूप की मांग की। एमएलए की मंजूरी पर अब यहां छह नलकूपों का खनन हो गया है। इससे गांव की महिलाएं बेहद खुश हैं।

यह भी पढ़ें :  आत्महत्या रोकथाम दिवस: खुदकुशी से पहले परिवार का सोचें, कोई है जिसे आपकी चिंता है— राजू साहू

युवा पीढ़ी काफी तेज- मण्डावी

विधायक विक्रम मण्डावी कहते हैं कि नई पीढ़ी तरक्कीपसंद है। उन्हें मूलभूत सुविधाओं की जरूरत है। इसके लिए अब वे संचार के आधुनिक संसाधन का उपयोग बखूबी करने लगे हैं। यह अच्छी बात है। जागरूकता से ही जिले में तरक्की होगी। ये अच्छा संकेत है।