अजीत जोगी के निधन पर छत्तीसगढ़ में 3 दिन का राजकीय शोक घोषित…सीएम भूपेश बघेल ने दी श्रद्धांजलि, बोले- प्रदेश के लिए अपूरणीय क्षति

31
Chhattisgarh declared 3-day state mourning over the death of Aziz Jogi

अजीत जोगी के निधन पर छत्तीसगढ़ में 3 दिन का राजकीय शोक घोषित…सीएम भूपेश बघेल ने दी श्रद्धांजलि, बोले- प्रदेश के लिए अपूरणीय क्षति

रायपुर @ खबर बस्तर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत प्रमोद कुमार जोगी के निधन पर गहरा दुःख प्रकट किया है। श्री जोगी का आज यहां एक निजी चिकित्सालय में इलाज के दौरान निधन हो गया।

Audio therapy being given to bring Ajit Jogi out of coma

मुख्यमंत्री बघेल ने पूर्व सीएम जोगी के निधन पर राज्य में आज से तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया है। इस दौरान राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा और इस दौरान कोई भी शासकीय समारोह आयोजित नहीं किए जाएंगे। स्वर्गीय जोगी का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ कल 30 मई को गौरेला में होगा।

मुख्यमंत्री बघेल ने अपने शोक संदेश में कहा है कि श्री जोगी का निधन छत्तीसगढ़ के लिए अपूरणीय क्षति है। उन्होंने प्रदेश के विकास में श्री जोगी के योगदान का स्मरण करते हुए कहा कि राज्य बनने के बाद उन्होंने छत्तीसगढ़ राज्य के तीव्र विकास की रूपरेखा तैयार की और एक कुशल राजनीतिज्ञ एवं प्रशासक के रूप में राज्य को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के बाद श्री जोगी के नेतृत्व में बनी सरकार में केबिनेट मंत्री के रूप में कार्य करने का मौका मिला। उन्होंने कहा कि श्री जोगी ने छत्तीसगढ़ राज्य में गांव, गरीब और किसानों के कल्याण के लिए काम करने की दिशा निर्धारित की।

यह भी पढ़ें :  प्रेशर IED की चपेट में आने से दंपति गंभीर रूप से जख्मी... रिश्तेदार से मिलने जा रहे थे, रास्ते में हुआ धमाका

Read More:

 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्वर्गीय जोगी के परिजनों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त करते हुए उन्हें इस दुख की घड़ी को सहन करने की शक्ति प्रदान करने और दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है।

यह भी पढ़ें :  कोंटा में डेंगू के 17 मरीज मिले, CRPF के कई जवान भी डेंगू से पीड़ित

Read More:

 

ज्ञातव्य है कि श्री जोगी बीते 9 मई से उपचार हेतु चिकित्सालय में भर्ती थे। पूर्व मुख्यमंत्री श्री अजीत जोगी इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद प्राध्यापक के रूप कैरियर की शुरूआत की। पहले आईपीएस के रूप में अपनी सेवाएं दी तत्पश्चात भारतीय प्रशासनिक सेवा के लिए चयनित हुए।

यह भी पढ़ें :  शादी का झांसा देकर लेडी डॉक्टर से करता रहा रेप, मेकाहारा हॉस्पिटल में पदस्थ डॉक्टर के खिलाफ FIR दर्ज

Read More:

 

अजीत जोगी अविभाजित मध्यप्रदेश के दौरान रायपुर सहित कई जिलों के कलेक्टर रहे। वे सांसद व विधायक भी रहे। एक नवंबर 2000 को छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के बाद वे राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री बने।

 

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…

ख़बर बस्तर के व्हॉट्सएप्प ग्रुप में जुड़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए….