मंदिर के पट खुले तो कलेक्टर पहुंचे दंतेश्वरी मांई के द्वार, सपरिवार किया माता के दर्शन… क्यूआर कोड को स्कैन कर किया दान

125
Collector worshiped with family in Danteshwari temple

मंदिर के पट खुले तो कलेक्टर पहुंचे दंतेश्वरी मांई के द्वार, सपरिवार किया माता के दर्शन… क्यूआर कोड को स्कैन कर किया दान

दंतेवाड़ा @ खबर बस्तर। करीब ढाई महीने के अंतराल के बाद बस्तर की आराध्य देवी मां दंतेश्वरी का दरबार भक्तों के लिए खोल दिया गया है। कोरोना संक्रमण के चलते शक्तिपीठ को बंद कर दिया गया था। दोबारा जब मंदिर के पट खुले तो मांईजी के दर्शन को श्रद्धालु उमड़ने लगे।

दंतेश्वरी मांई के हजारों-लाखों भक्तों में आम से लेकर खास तक शामिल हैं। इनमें एक नाम और जुड़ गया है आईएएस दीपक सोनी का। पिछले महीने ही उन्होंने दंतेवाड़ा के नए कलेक्टर के तौर पर चार्ज लिया है।

यह भी पढ़ें :  दंतेवाड़ा क्वारंटीन सेंटर से भागे 23 मजदूर, मचा हड़कंप...मजदूरों की तलाश जारी

दंतेवाड़ा में ज्वाइनिंग के बाद से वे लगातार काम कर रहे हैं। गरीबी उन्मूलन को हथियार बनाते जिले की बेहतरी के लिए वे जी जान से जुटे हैं। इधर, शक्तिपीठ में पूजा अर्चना बंद होने के चलते वे दंतेश्वरी माता की नगरी में रहकर भी मंदिर में शीश नवाने नहीं पहुंच सके थे।

Read More: 

मंदिर के पट खुले तो आज वे सपरिवार शक्तिपीठ पहुंचे और माता का दर्शन-पूजन कर जिले की खुशहाली व समृद्धि की कामना की। इस दौरान कलेक्टर सोनी ने मंदिर में लगे हुए क्यूआर कोड को स्कैन कर डिजिटिल माध्यम से मंदिर को दान की राशि चढ़ाई।

यह भी पढ़ें :  BSF कैंप में फूटा 'कोरोना' बम, एक साथ 15 जवान मिले संक्रमित... सभी जवान छुट्टी से लौटे थे, मचा हड़कंप !

Collector worshiped with family in Danteshwari temple

बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण के मद्देनजर दंतेश्वरी मंदिर में माता को फूल, प्रसाद या दान चढ़ाने की मनाही है। जिला प्रशासन द्वारा मंदिर के भीतर क्यूआर कोड लगाया गया है। इसे स्कैन कर भक्तजनों द्वारा दान की राशि चढ़ाई जा सकती है।

Read More: 

 

यह भी पढ़ें :  भाजपा जिला प्रकोष्ठ के नवनियुक्त पदाधिकारियों का हुआ भव्य स्वागत, कार्यक्रम में शामिल हुए पूर्व मंत्री गागड़ा

स्क्रीनिंग के बाद मंदिर में प्रवेश 

मंदिर के प्रवेश द्वार पर ऑटोमेटिक सेनिटाइजर मशीन लगाई गई है जिसमें सेनेटाइज होकर भक्त शक्तिपीठ में प्रवेश कर रहे हैं। इसके अलावा भक्तों की बाकायदा स्क्रीनिंग के बाद इन्हें मंदिर में दाखिल किया जा रहा है। सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक मंदिर में प्रतिमाओं को छूने व प्रसाद वितरण पर भी पाबंदी है।

Collector worshiped with family in Danteshwari temple

 

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…

ख़बर बस्तर के व्हॉट्सएप्प ग्रुप में जुड़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए….