शादी के जश्न ने फैलाई महामारी, पूरा गांव कंटेनमेंट जोन घोषित… साढ़े 3 हजार लोग घरों में कैद

67

शादी के जश्न ने फैलाई महामारी, पूरा गांव कंटेनमेंट जोन घोषित… साढ़े 3 हजार लोग घरों में कैद

पंकज दाउद @ बीजापुर। यहां से पंद्रह किमी दूर नैशनल हाईवे पर स्थित नैमेड़ गांव में थोक में कोरोना मरीज पाए जाने पर समूचे गांव को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है और इससे करीब साढ़े तीन हजार लोग अपने घरों में कैद हो गए हैं।

– नैमेड़ में पसरा सन्नाटा

सूत्रों के मुताबिक इस गांव में चार शादियां हुईं और भीड़भाड़ के साथ जश्न भी मना। हालात ये हो गए कि यहां करीब 80 लोग कोरोना पाॅजीटिव पाए गए। प्रशसन ने सख्ती दिखाते 8 से 21 मई तक समूचे गांव को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया।

यह भी पढ़ें :  जिले के नेता और अफसरों में टकराव ! जानिए, किस बात को लेकर होंगे आमने-सामने

Read More:

इधर, जिला मुख्यालय में भी कुछ इलाकों को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया। इनमें टीचर्स कालोनी, पीडब्ल्यू कालोनी, राउतपारा के कुछ हिस्से, सिंचाई कालोनी, वार्ड क्रमांक 6 के एमएसएफ कार्यालय के सामने, तहसीलपारा के कुछ हिस्से और अटल आवास को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया था।

यह भी पढ़ें :  जगदलपुर के तिरंगा चौक में अंबेडकर प्रतिमा की स्थापना, विधायक रेखचंद जैन ने किया अनावरण

सीएमओ पवन कुमार मेरिया ने बताया कि एमएसएफ आफिस के सामने, पीडब्ल्यूडी कालोनी एवं टीचर्स कालोनी से कंटेनमेंट जोन को हटा लिया गया है। इन्हें 14 दिनों के लिए कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया था।

राजस्व एवं पुलिस की मदद से पालिका विवाह कार्यक्रमों पर नजर रखी हुई है। बीस लोगों से अधिक होने पर कार्रवाई की जा रही है। धनोरा के पास एक शादी समारोह से टेंट जप्त किया गया था और टेंट वाले पर 15 हजार रूपए का जुर्माना वसूल किया गया था। बाहर से आने वाले लोगों के बारे में भी पता लगाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें :  दंतेवाड़ा उपचुनाव से पहले CPI के खेमे में सेंध, पूर्व सरपंच सहित 25 कार्यकर्ता कांग्रेस में हुए शामिल

Read More:

 

सीएमओ पवन मेेरिया ने बताया कि शनिवार को बस्तर जिले के लोहण्डीगुड़ा इलाके से 13 मजदूर आए थे। इनकी जांच की गई। सभी निगेटिव पाए गए। ठेकेदार के पास अनुमति थी और उन्हें छोड़ दिया गया।