यहां नेता और अफसर बन गए बाराती ! 102 जोड़े हो गए एक दूजे के लिए

1204

यहां नेता और अफसर बन गए बाराती ! 102 जोड़े हो गए एक दूजे के लिए

पंकज दाऊद @ बीजापुर। मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत यहां 102 जोड़ों को विवाह रचाया गया और इसमें बाराती बने नेता और अफसर। बारात भी बड़ी धूमधाम से निकली और पापनपाल के ढोलकियों ने इसमें एक नया रंग जमा दिया।

महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से सामूहिक विवाह का आयोजन किया गया। इसमें 69 जोड़ों का विवाह आदिवासी रीति रिवाज से कराया गया। इसमें गायता, पेरमा, पुजारी और वड्डे मौजूद थे। 24 जोड़ों का विवाह हिन्दू रीति रिवाज से पण्डित ने करवाया। वहीं 9 जोड़ों का विवाह ईसाई धर्म के अनुसार पास्टर ने संपन्न करवाया।

यह भी पढ़ें :  गैंगरेप पर मंत्री शिव डहरिया के बयान पर सियासत गर्म... BJYM ने फूंका पुतला, किया उग्र प्रदर्शन

सांस्कृतिक भवन परिसर में ये कार्यक्रम गुरूवार को संपन्न हुआ। इसमें 84 जोड़े बीजापुर ब्लाॅक, 6 जोड़े भोपालपटनम ब्लाॅक एवं 12 जोड़े भैरमगढ़ ब्लाॅक के थे।

– बारात में शामिल नेता और अफसर।

इस आयोजन के दौरान जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुड़ियम, उपाध्यक्ष कमलेश कारम, जिला कांग्रेस अध्यक्ष लालू राठौर, पालिका अध्यक्ष बेनहूर रावतिया, उपाध्यक्ष पुरूषोत्तम सल्लूर, जिला कार्यकम अधिकारी लुपेन्द्र महिनाग, बाल संरक्षण अधिकारी राहूल कौशिक, पीओ वीरेन्द्र खरे, कांग्रेस नेता अशोक तलाण्डी, बब्बू राठी, प्रवीण उद्दे, लक्ष्मण कड़ती, संतोष गुप्ता, बोधी ताती, महेश कुड़ियम, रमेश यालम एवं अन्य मौजूद थे।

यह भी पढ़ें :  सड़क हादसे में 4 लोग घायल: मां दंतेश्वरी के दर्शन को आ रहे श्रद्धालुओं की इनोवा दुर्घटनाग्रस्त, घायल अस्पताल में भर्ती

इस योजना के तहत 25 हजार रूपए की राशि शादी पर खर्च की गई। एक हजार रूपए का चेक दिया गया। अलमारी, गद्दा, दो तकिए, गंज, पंखा, प्रेशर कूकर, थाली, गिलास, परात एवं अन्य उपहार पर 14 हजार रूपए खर्च किए गए। इसके अलावा पांच हजार रूपए की श्रृंगार सामग्री दी गई। 5000 रूपए पण्डाल, पंडित, भोजन, परिवहन आदि पर खर्च किए गए।