जुड़वे भाई की भी कर दी हत्या, 15 साल में तीन भाई और एक भतीजे की मौत…माओवादियों ने पहले ही कह दिया मठ बनाने !

96

एक और जुड़वे भाई की भी कर दी हत्या, 15 साल में तीन भाई और एक भतीजे की मौत…माओवादियों ने पहले ही कह दिया मठ बनाने ! 

 

पंकज दाउद @ बीजापुर। संदिग्ध नक्सलियों ने गंगालूर थाना क्षेत्र के गोंगला गांव में शुक्रवार की शाम एक ग्रामीण की गला रेतकर हत्या कर दी। हालांकि, पुलिस इसे नक्सली वारदात होने से इंकार कर रही है।

सूत्रों के मुताबिक, लखमू वेड़जे (45) शुक्रवार की शाम करीब 7 बजे अपने पड़ोसी के घर गया था। तभी कुछ नक्सली वहां आ धमके और गला रेतकर उसकी हत्या कर दी। खबर है कि मुखबिरी के शक में उसकी हत्या की गई है।

यह भी पढ़ें :  एक और बाघ का होगा DNA टेस्ट... वन भैंसों के झुण्ड दिखे, मुनादी करवाई गई

गंगालूर थाने से पुलिस फोर्स शनिवार की सुबह गोंगला गई थी और वहां से पीएम के लिए शव को लाया गया। पीएम के बाद शव परिजनों के सुपूर्द कर दिया गया है। पिछले साल 7 नवंबर को माओवादियों ने लखमू वेड़जे के जुड़वे भाई रामूलू की भी गांव में ही गला दबाकर हत्या कर दी थी।

जब परिजन रामूलू का मठ बना रहे थे तब ही नक्सलियों ने कह दिया था कि वे एक और मठ बना लें। जब रामूलू की हत्या की गई तब नक्सलियों ने लखमू को भी बांध दिया था लेकिन बाद में उसे छोड़ दिया गया।

यह भी पढ़ें :  बस्तर की इस 'नन्ही परी' का आल इंडिया मिनी मॉडल प्रतियोगिता में हुआ चयन, विनर बनाने कीजिए वोटिंग

सलवा जुड़ूम चालू होने के बाद वेड़जे परिवार गंगालूर राहत शविर कैम्प में आकर रहने लगा था। वहां नक्सलियों ने 28 जनवरी 2006 को हमला किया और लखमू के बड़े भाई पेंटू वेड़जे की हत्या कर दी।

इसके बाद पेंटू के बेटे रामलाल की 28 फरवरी 2008 को पदेड़ा के समीप गाड़ी रोककर हत्या कर दी। स्पेशल पुलिस आफिसर रामलाल उस दिन जिला मुख्यालय से गंगालूर बाइक से जा रहा था।

यह भी पढ़ें :  साइकिल रेस में राजनांदगांव के द्वारिकाधीष ने मारी बाजी... महिला वर्ग में अव्वल आईं एलिजाबेथ, जश्ने आजादी पर इनामों की बौछार

पूरा परिवार जिला मुख्यालय में

पेंटू वेड़जे का पूरा परिवार जिला मुख्यालय में रहता है। उसका एक बेटा शिक्षक है और एक मजदूरी करता है। तीन लड़के और एक लड़की यहां अध्ययनरत हैं। लखमू का परिवार गोंगला में ही रहकर खेती करता है। उसकी एक बेटी का ब्याह हो गया है। चार लड़के और पत्नी गांव में ही रहते हैं। घटना के दिन सभी घर में ही थे।

VIDEO