गांव में रोजगार का दावा झूठा‚ पलायन कर रहे 150 ग्रामीणों को रोका गया… जिपं अध्यक्ष ने समझाइश देकर भेजा घर‚ CEO को लगाई फटकार

50

गांव में रोजगार का दावा झूठा‚ पलायन कर रहे 150 ग्रामीणों को रोका गया… जिपं अध्यक्ष ने समझाइश देकर भेजा घर‚ CEO को लगाई फटकार

दंतेवाड़ा @ खबर बस्तर। जनप्रतिनिधि और सरकारी नुमाइंदे ग्रामीणों को उनके गांव में ही रोजगार मुहैया कराने का दावा करते नहीं थकते, लेकिन सच्चाई इसके बिल्कुल उलट है। दक्षिण बस्तर में शासन-प्रशासन के तमाम वादों और दावों के बीच पलायन का जिन्न रह-रहकर बोतल के बाहर निकल ही जाता है।

शुक्रवार को बड़ी संख्या में ग्रामीण पुरूष व महिलाएं रोजगार की तलाश में पड़ोसी राज्यों की ओर पलायन करने दंतेवाड़ा के बस स्टैण्ड पहुंचे थे। इनमें कटेकल्याण ब्लॉक के ग्राम पंचायत चिकपाल, टेटम, परचेली के सैकड़ों ग्रामीण शामिल थे। इस बात की जानकारी जैसे ही जिला पंचायत अध्यक्ष तुलिका कर्मा को मिली‚ वे स्वयं बस स्टैण्ड पहुंची और पलायन कर रहे ग्रामीणों को रुकवाया।

यह भी पढ़ें :  कोरोना पॉजिटिव मरीज ने AIIMS बिल्डिंग से कूद कर की आत्महत्या, हफ्तेभर से अस्पताल में भर्ती था

Read More:

 

जिपं अध्यक्ष ने बताया कि कुछ ठेकेदार ग्रामीणों को बहला फुसलाकर आंध्र प्रदेश ले जाने के फिराक में थे। मौके पर पहुँचकर सभी ग्रामीणों को समझाइश दी गई है और उन्हें अपने गृहग्राम वापस भेज दिया गया है।

पलायन के पीछे बड़ा गिरोह सक्रिय

तुलिका ने आरोप लगाया कि जिले के ग्रामीणों को पलायन कराने एक बड़ा गिरोह काम कर रहा है जो ग्रामीणों को मोटी रकम दिलाने का वादा कर अपने साथ ले जाते हैं और उनका शोषण करते हैं। कोरोना काल में भी दूसरे राज्यों में पलायन कर गए कई मजूदरों को छुड़ाया गया था।

यह भी पढ़ें :  कांग्रेस ने जारी की पार्षद प्रत्याशियों की सूची...जानिए दंतेवाड़ा, बचेली, गीदम समेत 5 नगरीय निकायों में किसे मिला टिकट

Read More:

मौके पर पहुंचे जिला पंचायत सीईओ अश्वनी देवांगन ने बताया कि जिले में मनरेगा के माध्यम से सभी को रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। किसी भी पंचायत में काम की कमी नहीं है। भोले-भाले ग्रामीणों को बाहरी ठेकेदार पैसे का लालच देकर अपने साथ ले जाते हैं।

यह भी पढ़ें :  माओवादियों का बड़ा आरोप‚ ड्रोन से गिराए गए 12 बम... हमले की तस्वीरें और वीडियो किया जारी

CEO की लगाई क्लास‚ दिए ये निर्देश

ग्रामीणों का पलायन होता देख नाराज जिपं अध्यक्ष तुलिका कर्मा ने प्रशासन के आला अफसरों को निर्देशित किया है वे पंचायत स्तर पर सख्ती कर पलायन रोकें। उन्होंने कटेकल्याण जनपद सीईओ को मौके पर फटकार लगाते निर्देशित किया कि वे सरपंच-सचिव के माध्यम से पलायन रोकें और मनरेगा के माध्यम से सभी को रोजगार उपलब्ध करावें।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…


खबर बस्तर के WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए इस Link को क्लिक कीजिए…