नक्सलियों ने ग्रामीण की हत्या की… मौत की तारीख और वक्त तय किया था, मुरा के आने की जानकारी पहले से थी

95
Former assistant constable murdered in Bijapur

नक्सलियों ने ग्रामीण की हत्या की… मौत की तारीख और वक्त तय किया था, मुरा के आने की जानकारी पहले से थी

पंकज दाउद @ बीजापुर। मोदकपाल थाना क्षेत्र के नुकनपाल गांव के मुरा कुड़ियम (50) को ये नहीं पता था कि नक्सलियों की नजर उस पर है और उन्होंने उसकी मौत की तारीख व वक्त तय कर दिया है।

दरअसल, करीब 15 साल पहले मुरा कुडियम सलवा जुड़म शुरू होने के बाद से पटेलपारा वाले घर को छोड़ सड़क किनारे सीआरपीएफ कैम्प के पास घर बनाकर अपने परिवार के साथ रहने लगा था। समझा जाता है कि उसे नक्सली हमले का आभास था।

यह भी पढ़ें :  अमित जोगी के जेल जाने के बाद कांग्रेस में शामिल हुए जोगी कांग्रेस के जिलाध्यक्ष... सीएम भूपेश के समक्ष की घर वापसी, जानिए छजकां की सेहत पर कितना पड़ेगा असर !

सूत्रों के मुताबिक कैम्प के पास वाले घर से शुकवार की सुबह वह वह अपने पटेलपारा स्थित घर गया था। वहां उनके भतीजे लक्ष्मण कुड़ियम के मठ बनाने (दिनक्रिया) वह गया हुआ था। मठ बन जाने पर वह जैसे ही वहां से निकला। कुछ लोगों ने उसे घेर लिया और कुल्हाड़ी, चाकू, डण्डे और फावड़े से उस पर हमला कर दिया।

इस हमले से मौके पर ही मुरा की मौत हो गई। उसकी पत्नी बुच्ची और उसके परिवार के सदस्य शव लेकर शाम को जिला हाॅस्पिटल पहुंचे। शुक्रवार को शव का पीएम किया जाएगा।

यह भी पढ़ें :  नगर पंचायत चुनाव: कांग्रेस और भाजपा में सीधी टक्कर के आसार, निर्दलियों ने भी ताल ठोंकी

Read More:

 

 

बताया गया है कि मुरा के चार लड़के व एक लड़की है। सलवा जुड़म के बाद वह नक्सलियों के भय से सीआरपीएफ कैम्प के सामने घर बनाकर रहने लगा था। कभी कभार वह खेत की ओर जाया करता था। समझा जाता है कि मठ के लिए मुरा के आने की बात नक्सलियों को पता थी और वे उसकी ताक में थे।

यह भी पढ़ें :  घर में पति-पत्नी का शव मिलने से सनसनी, मर्डर या आत्महत्या..? गुत्थी सुलझाने में जुटी पुलिस