अब बीजापुर के खेत उगलेंगे शिमला मिर्च… कृषि विज्ञान केन्द्र में नर्सरी तैयार, किसानों को दिए जाएंगे पौधे

225

अब बीजापुर के खेत उगलेंगे शिमला मिर्च… कृषि विज्ञान केन्द्र में नर्सरी तैयार, किसानों को दिए जाएंगे पौधे

पंकज दाऊद @ बीजापुर। अब जिले के खेतों में शिमला मिर्च उगाई जाएगी और इसके लिए कृषि विज्ञान केन्द्र पनारापारा में नर्सरी तैयार हो गई है। किसानों को इसके पौधे जल्द ही बांटे जाएंगे।

– कृषि विज्ञान केन्द्र में तैयार नर्सरी।

कृषि विज्ञान केन्द्र के उद्यानषास्त्री डाॅ केएल पटेल ने बताया कि नर्सरी तैयार हो गई है। इसके बीज रायपुर से लाए गए थे। करीब दस हजार पौधे तैयार हैं। इन्हें किसानों को दिया जा रहा है। नर्सरी तैयार होने में डेढ़ माह लगे। अब फल तैयार होने में और डेढ़ माह लगेंगे।

यह भी पढ़ें :  बादल छाए रहेंगे और बदरिया बरसेगी

उन्होंने बताया कि कुछ किसान आकर पौधे ले जा रहे हैं। पहले ऐसे किसानों को पौधे दिए जा रहे हैं, जिन्हें उद्यानिकी विभाग की ओर से शेड व नेट दिए गए हैं। डाॅ पटेल के मुताबिक आदर्श स्थिति में एक पौधे में 25 से 30 फल डेढ़ माह में लगते हैं। ठण्ड इस पौधे के लिए फायदेमंद है।

– बाजार में बिक्री के लिए लाई गई शिमला मिर्च।

एक पौध में पांच से सात किलो तक फल आते हैं। एक फल डेढ़ से दो सौ ग्राम तक का होता है। अभी छग में धमतरी, रायपुर और राजनांदगांव के आसपास इसकी खेती हो रही है। यहां उत्पादन शुरू होने पर लोगों को स्थानीय स्तर पर कम दाम में शिमला मिर्च मिलेगी।

यह भी पढ़ें :  चुनावी खर्च का हिसाब नहीं देने वाले दो उम्मीदवारों को मिली नोटिस, दूसरे दिन पहुंचे खाता-बही लेकर

फायदा एक लाख का

अभी बाजार में शिमला मिर्च का रेट 80 रूपए किलो है। एक हेक्टेयर में किसान को एक लाख तक का फायदा होता है। ये इसके प्रबंधन पर निर्भर करता है। डाॅ पटेल ने बताया कि ड्रिप इरिगेशन यदि शेड में हो तो ये इसके लिए आदर्श स्थिति है। पहली बार जिले में इसकी खेती हो रही है।