SDM ने राशन दुकानों के लायसेंस निरस्त करने की दी चेतावनी… दुकानदारों ने दबा रखे हैं हजारों बारदाने, लौटाने मिली 7 दिन की मियाद

62
SDM warns of canceling licenses of ration shops

SDM ने राशन दुकानों के लायसेंस निरस्त करने की दी चेतावनी… दुकानदारों ने दबा रखे हैं हजारों बारदाने, लौटाने मिली 7 दिन की मियाद

पंकज दाऊद @ बीजापुर। भोपालपटनम अनुभाग में संचालित राशन दुकान के संचालकों ने करीब 21 हजार बारदाने जमा नहीं किए हैं और इससे आने वाले दिनों में धान खरीदी में दिक्कत होगी। एसडीएम उमेश कुमार पटेल ने उचित मूल्य की 16 दुकानों के संचालकों को नोटिस किया है। 

SDM warns of canceling licenses of ration shops

भोपालपटनम एसडीएम उमेश कुमार पटेल ने इस आशय का आदेश बुधवार को जारी किया। उन्होंने बताया कि सोलह दुकानदारों को सात दिनों में बारदाने जमा करने और इस देर के विरूद्ध संतोषजनक जवाब के लिए नोटिस दी गई है।

यह भी पढ़ें :  किरन्दुल व बचेली के ये इलाके कंटेनमेंट ज़ोन घोषित... ट्रक ड्राईवर व हेल्परों को कराना होगा एंटीजन टेस्ट, देनी होगी रिपोर्ट

इन लोगों को नोटिस जारी

विपणन सहकारी समिति भो. पटनम के प्रबंधक काका सूर्यनारायण, भद्रकाली समिति भ्रदाकाली के अध्यक्ष गणेश कुमार, गोटाईगुड़ा के सरपंच मोहन राव, तारूड़ के सरपंच पुताईया नागेश, अटुकपल्ली के सरपंच सदानंदम, प्रवीरचंद्र भंजदेव सहकारी समिति सेण्ड्रा के संतोष यालम, जय बूढ़ादेव महिला समूह सण्ड्रापल्ली के अध्यक्ष यालम अंगदराव, विपणन सहकारी समिति भो. पटनम कोंगूपल्ली के रामास्वामी पालदेव, गायत्री महिला स्व सहायता समूह पामगल के चिंरजीव बंदम, अगमपल्ली के सरपंच टिंगे समैया, विपणन सहकारी समिति संगमपल्ली के अंगमपल्ली सतीश, तमलापल्ली के सरपंच पारेट रमेष, जय मां दुर्गा महिला समूह उसकालेड़ के टिंगे सुरेश, वैभवी महिला स्व सहायता समूह रूद्रारम के अध्यक्ष एटला कामेश्वर, विपणन सहकारी समिति मर्यादित अर्जुनल्ली के प्रबंधक टी गोपाल को ये नोटिस जारी की गई है।

यह भी पढ़ें :  कलेक्टर काॅन्फ्रेंस में CM भूपेश बघेल की अफसरों को नसीहत, बोले- सादे कागज पर लिखे आवेदन पर भी करें प्रभावी कार्रवाई

Read More:  DGP की सख्ती का असर: ट्रांसफर रुकवाने में लगे 3 पुलिस अधिकारी सस्पेंड… DSP को कारण बताओ नोटिस, 60 कर्मचारी एकतरफा रिलीव

एसडीएम ने बताया कि आगामी दिनों में धान खरीदी में बारदाने की जरूरत पड़ेगी। इस वजह से सभी उचित मूल्य की दुकानों के संचालकों को बारदाना वापस जमा करने के लिए निर्देशित किया गया था।

Read More:

 

यह भी पढ़ें :  जब शिक्षा सचिव और कलेक्टर बन गए स्टूडेंट... अफसरों ने मोहल्ला क्लास का किया निरीक्षण, बच्चों से पूछे सवाल, शिक्षकों की तारीफ की

इसके बाद भी कुछ संचालकों ने बहुत ही कम बारदाने जमा किए हैं। इससे भविष्य में किसानों के धान खरीद पाने की क्षमता पर असर पड़ेगा। इस वजह से सात दिनों में बारदाने जमा करने नोटिस जारी किया गया है।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…