गणेश राम की शहादत को याद रखेगी पीढ़ियां: जिस स्कूल में की थी पढ़ाई, वही जाना जाएगा शहीद जवान के नाम से

86
The school will be named after the martyr Jawan Ganesh Ram

गणेश राम की शहादत को याद रखेगी पीढ़ियां: जिस स्कूल में की थी #पढ़ाई, वही जाना जाएगा शहीद जवान के नाम से

कांकेर @ खबर बस्तर। लद्दाख के गलवान घाटी में चीनी सेना के साथ हुई झड़प में शहीद गणेश राम कुंजाम की वीरता से अब गांव की आने वाली पीढ़ियां रूबरू हो सकेंगी। दरअसल, गृहग्राम गिधाली की जिस प्राथमिक शाला में गणेश राम ने पढ़ाई की थी, उसका नाम उन्हीं की याद में रखा जाएगा।

The school will be named after the martyr Jawan Ganesh Ram

सीएम भूपेश बघेल ने गुरुवार की शाम माना एयरपोर्ट पर शहीद गणेश राम कुंजाम को पुष्पांजलि अर्पित करने के साथ इसकी घोषणा की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने शहीद के परिजनों को 20 लाख की आर्थिक सहायता राशि का चेक देते शहीद के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का भी ऐलान किया।

Read More: 

 

यह भी पढ़ें :  दर्दनाक सड़क हादसे में हाईकोर्ट जज के बेटे की मौत... ट्रेलर में जा घुसी तेज रफ्तार कार, युवक ने मौके पर तोड़ा दम

बता दें कि लद्दाख की गलवान घाटी में सोमवार की रात चीनी सेना के साथ हुई हिंसक झड़प में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए थे। इस हिंसक झड़प में छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले की कुरूटोला ग्राम पंचायत के ग्राम गिधाली निवासी गणेश राम कुंजाम भी शहीद हो गए। शहीद जवान का पार्थिव शरीर गुरूवार की शाम विशेष विमान द्वारा रायपुर पहुंचा।

Read More: 

 

यहां उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शहीद जवान के पार्थिव शरीर को कांधा देकर विदाई दी। माना विमानतल पर शहीद जवान को गॉर्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके बाद हेलीकाफ्टर से शहीद का पार्थिव शरीर अंतिम संस्कार के लिए उनके गृह ग्राम गिधाली कांकेर के लिए रवाना किया गया।

यह भी पढ़ें :  CM की सभा से पहले BJP से मोहभंग‚ फिर 4 सरपंचों ने थामा कांग्रेस का हाथ

The school will be named after the martyr Jawan Ganesh Ram

इधर, गांव में अपने लाल को अंतिम विदाई देने लोग सुबह से ही भारी संख्या में जुटने लगे थे। गांव में दिन भर ‘शहीद गणेशराम अमर रहे’ के नारे गूंजते रहे। रात 7.45 बजे गांव में शहीद का पार्थिव शरीर पहुंचा, जिसके पीछे चारामा से युवा बाइक रैली के रूप में जयकारे लगाते गांव पहुंचे। परिजन और विशिष्टनों की श्रद्धांजलि के बाद देर रात शहीद का अंतिम संस्कार किया गया।

सीएम ने कांधा देकर की विदाई

इससे पहले रायपुर में सीएम भूपेश बघेल ने शहीद जवान के पार्थिव शरीर को कंधा देकर विदाई दी। सीएम ने कहा कि बस्तर के लाल गणेश कुंजाम ने देश के लिए शहादत दी है। ऐसे महान सपूत पर सभी प्रदेशवासियों को गर्व है। उन्होंने शहीद गणेश राम की स्मृति को अमर बनाने के लिए गृहग्राम की शाला का नामकरण उनके नाम पर करने घोषणा की। इस दौरान कई मंत्री और पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह सहित कई प्रमुख नेता व आला अधिकारी मौजूद थे।

यह भी पढ़ें :  जन अदालत: नक्सलियों ने पिता के सामने ही बेटे की ले ली जान... कई ग्रामीण अभी भी माओवादियों के कब्जे में: सूत्र

Read More: 

 

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…

ख़बर बस्तर के व्हॉट्सएप्प ग्रुप में जुड़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए….