नक्सलियों की केन्द्रीय कमेटी ने जारी किया प्रेस नोट‚ अतंरराष्ट्रीय मई दिवस मनाने अपील

55

नक्सलियों की केन्द्रीय कमेटी ने जारी किया प्रेस नोट‚ अतंरराष्ट्रीय मई दिवस मनाने अपील

के. शंकर सुकमा। नक्सलियों की केन्द्रीय कमेटी ने प्रेस नोट जारी कर अतंरराष्ट्रीय मई दिवस मनाने का ऐलान किया है।

प्रेस नोट में केन्द्रीय कमेटी के प्रवक्ता अभय ने कहा है कि भारत के किसान देश की राजधानी दिल्ली में पिछले 6 महीनों से समझौताविहीन संघर्ष जारी रखे हुए हैं। जीएसटी को समाप्त करने की मांग को लेकर व्यापारी लड़ रहे हैं। बैंकों का विलय और विभिन्न सार्वजनिक संस्थाओं के निजीकरण के विरोध में लाखों संगठित व असंगठित मजदूर व कर्मचारी आंदोलनरत हैं।

यह भी पढ़ें :  कांकेर में लॉज के कमरे में मिले 4 शव... मां-बाप और 2 बच्चों की मौत से मची सनसनी

केंद्र सरकार द्वारा बनायी गयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति (2020) को छात्र, शिक्षक और शिक्षाविद विरोध कर रहे हैं। फासीवादी ब्राह्मणीय हिंदुत्व शक्तियों और धार्मिक हिंसात्मक नीतियों के खिलाफ धर्मनिरपेक्ष शक्तियां लड़ रही हैं। संघर्षरत जनता पर लागू किए जा रहे निरंकुश फासीवादी कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर कई मानवाधिकार संगठन एकजुट होकर आवाज उठा रहे हैं।

इस तरह विश्वभर में पिछड़े देशों के सरकारें बहुराष्ट्रीय कार्पोरेट कंपनियों के हितों को पूरा करने के लिए एक ही तरह व्यवहार कर रही हैं। इसलिए, तमाम देशों में संघर्षरत श्रमजीवियों के आंदोलनों का क्रांतिकारी सर्वहारा पार्टियों व संगठनों द्वारा नेतृत्व प्रदान की जाने की आवश्यकता पहले के मुकाबले अधिक मजबूती से सामने आ रही है।

यह भी पढ़ें :  नक्सलियों ने सहायक आरक्षक की निर्मम हत्या की, तीर और टंगिया से किया वार, मेडिकल लीव पर घर आया था जवान