कोंटा पहुंचे CM भूपेश बघेल, छिंद पत्तों से बने गुलदस्ते से हुआ स्वागत…

1519

कोंटा पहुंचे CM भूपेश बघेल, छिंद पत्तों से बने गुलदस्ते से हुआ स्वागत… श्रीराम लिंगेश्वर मंदिर में की पूजा अर्चना

के. शंकर @ सुकमा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज से बस्तर संभाग के 3 दिवसीय दौरे पर हैं। सीएम ने अपने भेंट-मुलाकात अभियान के दूसरे चरण की शुरुआत सुकमा जिले के कोंटा से की।

बुधवार की दोपहर करीब 12 बजे मुख्यमंत्री बघेल रायपुर से कोंटा पहुंचे। यहां गर्ल्स हायर सेकंडरी स्कूल में बने अस्थायी हैलीपेड पर उनके स्वागत के लिए भारी जनसमूह मौजूद था, जिन्होंने मुख्यमंत्री का गर्मजोशी से आत्मीय स्वागत किया।

यह भी पढ़ें :  आबकारी मंत्री कवासी लखमा बोले- 'जेल में बंद निर्दोष आदिवासियों को छुड़वाकर रहूंगा, चाहे सीएम से लड़ना पड़े'
– श्रीराम लिंगेश्वर मंदिर में पूजा अर्चना करते सीएम।

स्वागत के दौरान मुख्यमंत्री को छिंद पत्तों से बना परम्परागत गुलदस्ता भेंट किया गया। मुख्यमंत्री ने भी जनसमूह का अभिवादन किया।

कोंटा में सीएम बघेल सबसे पहले श्री राम लिंगेश्वर मंदिर पहुंचे और मंदिर में मौजूद स्तम्भ, शिवलिंग व नंदी की पूजा-अर्चना कर आशीर्वाद लिया। उन्होंने प्रदेशवासियों की सुख, समृद्धि की कामना की। इस दौरान मुख्यमंत्री के साथ वाणिज्य मंत्री कवासी लखमा, बस्तर सांसद दीपक बैज भी उपस्थित रहे।

उल्लेखनीय है कि बस्तर संभाग में भेंट-मुलाकात अभियान के दूसरे चरण में मुख्यमंत्री 18 से 2 जून तक बस्तर के विधानसभा क्षेत्रों का दौरा करेंगे।

यह भी पढ़ें :  मुठभेड़ में 1 लाख का इनामी जनताना सरकार अध्यक्ष ढेर, सिंगल बैरल मजल लोडिंग गन और IED बरामद

मुख्यमंत्री बघेल कोंटा के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के निरीक्षण करने पहुंचे। यहां उन्होंने स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लिया। मुख्यमंत्री ने दवाइयों की उपलब्धता की जानकारी ली। साथ ही सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में मौजूद बुजुर्ग मरीज के साथ बैठकर उनसे बातचीत की।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल प्रदेश के सभी 90 विधानसभा क्षेत्रों में भेंट-मुलाकात कर रहे हैं। भेंट-मुलाकात अभियान के पहले चरण में मुख्यमंत्री श्री बघेल 4 से 11 मई तक सरगुजा संभाग में थे। इस दौरान उन्होंने तीन जिलों के आठ विधानसभा में जनता के बीच पहुंचकर शासकीय योजनाओं को क्रियान्वयन और जनता को मिल रहे लाभ को जाना।

यह भी पढ़ें :  आशीष कर्मा का बस्तर से तबादला, तुलिका को बलरामपुर भेजा गया…. कई जिला पंचायत CEO भी बदले गए

वहीं मुख्यमंत्री बघेल ने संपर्क-संवाद-समाधान के ध्येय के साथ जनता से सीधी बात की और उनकी समस्या को जाना, साथ ही उन समस्या का त्वरित निराकरण किया। क्षेत्र की जनता की मांगों पर मुख्यमंत्री श्री बघेल ने जनआकांक्षाओं के अनुरूप अनेक सौगातें भी दीं।