बुझ गया कांग्रेस का ‘दीपक’… कोरोना ने छीन लिया बस्तर का भविष्य!

87

बुझ गया कांग्रेस का ‘दीपक’…कोरोना ने छीन लिया बस्तर का भविष्य!

दंतेवाड़ा/रायपुर @ खबर बस्तर। कोरोना महामारी के संक्रमण के चलते प्रदेश कांग्रेस महासचिव व दंतेवाड़ा के युवा नेता दीपक कर्मा का निधन हो गया। देर रात उन्होंने रायपुर के निजी अस्पताल में अंतिम सांस ली।

बता दें कि दिवंगत दीपक कर्मा बस्तर टाइगर शहीद महेंद्र कर्मा के बड़े बेटे थे। उनकी माता देवती महेन्द्र कर्मा दंतेवाड़ा से कांग्रेस की विधायक हैं। बीते 12 अप्रैल को दीपक कर्मा कोरोना संक्रमित हुए थे। इसके बाद से वे लगातार कोविड से जंग लड़ रहे थे।

Read More:

कोरोना पॉजिटिव होने के बाद दीपक कर्मा (44) को जगदलपुर के मेडिकल कालेज अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां ज्यादा तबीयत बिगड़ने पर 28 अप्रैल की देर रात उन्हें एंबुलेंस के जरिये रायपुर रेफर किया गया। राजधानी के MMI नारायणा सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में उपचार के दौरान उनका निधन हो गया।

यह भी पढ़ें :  जिले में शनिवार व रविवार को रहेगी पूर्णतः तालाबंदी, लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर होगी कार्रवाई

फेसबुक पोस्ट में दी थी जानकारी

कांग्रेस नेता दीपक कर्मा ने संक्रमित होने के बाद 12 अप्रैल को फेसबुक पोस्ट के जरिए खुद के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी साझा की थी। उन्होंने लिखा था कि कोविड एंटीजन टेस्ट में उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उनके संपर्क में आने वाले सभी लोगों से अनुरोध है कि वे अपना ख्याल रखें और किसी भी प्रकार का लक्षण दिखने पर अपना टेस्ट जरूर करा लें।

यह भी पढ़ें :  बलदेव उरसा बने भाजयुमो के जिला अध्यक्ष, जिला कार्यकारिणी गठित

बताया गया है कि कोरोना की वजह से दीपक कर्मा के फेफड़ों में संक्रमण ज्यादा बढ़ गया था। एमएमआई अस्पताल में वे वेंटिलेटर सपोर्ट पर थे। कांग्रेस नेता की नाजुक स्थिति के मद्देनजर समर्थक लगातार उनके जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना कर रहे थे।

Read More:

सीएम भूपेश बघेल ने भी दीपक के स्वास्थ्य को लेकर मंगलवार को डॉक्टरों से बात की थी। हालांकि, रात करीब 3 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। दीपक कर्मा क्षेत्र में युवाओं के बीच खासे लोकप्रिय थे। वे दंतेवाड़ा नगर पालिका के लगातार 3 बार अध्यक्ष रहे। उन्होंने बस्तर लोकसभा क्षेत्र से चुनाव भी लड़ा था।

यह भी पढ़ें :  गंगालूर और पामेड़ के बीच खिताबी भिडंत, तीसरे स्थान के लिए कोत्तूर और बीएसए के बीच मुकाबला