किरंदुल में बने क्वारेंटाइन सेंटर को हटाने की मांग, पार्षद ने लोगों की समस्या से अधि​कारियों को कराया रूबरू… जानिए किसलिए हो रहा विरोध

36
Demand to remove quarantine center in Kirandul's residential area

किरंदुल के रिहाइशी इलाके में बने क्वारेंटाइन सेंटर को हटाने की मांग, पार्षद ने अधि​कारियों से बताई समस्या…जानिए किसलिए हो रहा विरोध

दंतेवाड़ा @ खबर बस्तर। किरंदुल के रिहाइशी इलाके चीता कालोनी में प्रशासन द्वारा बनाए गए क्वारेंटाइन सेंटर को हटाने की मांग उठी है। इस मसले को लेकर पार्षद अब्दुल सिद्दीकी ने एसडीएम और तहसीलदार को लोगों को हो रही परेशानियों से अवगत करवाया है।

Demand to remove quarantine center in Kirandul's residential area

जानकारी के मुताबिक, किरंदुल वार्ड क्रमांक 11 के चीता कालोनी स्थित रिहाईशी इलाके के निकट एक क्वारेंटाइन सेंटर बनाया गया है। जहां बचेली से लाकर सीआईएसएफ के जवानों को रखा जा रहा है। इसी सेंटर से तीन दिन पहले 5 जवान कोरोना पॉजिटिव निकले थे। इसके बाद से इस इलाके में रह रहे लोग काफी दहशत में हैं।

Read More:  

 

यह भी पढ़ें :  नक्सलियों ने की ग्रामीण की हत्या, जंगल की कटाई और अवैध तरीके से भूमि पर कब्जा का लगाया आरोप

बता दें कि इस क्वारेंटाइन सेंटर से बमुश्किल 5 मीटर की दूरी पर ही पूरी बस्ती है। वहीं एनएमडीसी के आवासीय परिसर भी हैं, जिसमे कर्मचारी निवासरत हैं। क्वारेंटाइन सेंटर बनने के बाद एनएमडीसी प्रबंधन अपने कर्मचारियों को वहाँ से दूसरी जगह शिफ्ट कर रहा है।

Read More:  

इसी सेंटर के पास की बस्ती में करीब 100 लोगों का परिवार निवासरत है, जो डेयरी का संचालन करते हैं। इनका आरोप है कि क्वारेंटाइन सेंटर में रखे गए जवान खिड़कियों की जाली निकाल दिए हैं और बाहर थूकते हैं। वहीं कचरा भी इधर उधर फेंकते हैं। इससे लोगों में दहशत व्याप्त है।

दरअसल, अभी तक किरंदुल में कोरोना का एक भी मामला सामने नहीं आया है। ऐसे में रिहाइशी इलाके में बने क्वारेंटाइन सेंटर से लोगों को खतरा महसूस होने लगा है, लिहाजा वे इसे हटाने की मांग कर रहे हैं।

Read More: 

 

यह भी पढ़ें :  सड़क पर पड़ा मिला ग्रामीण का शव, हत्या की जताई जा रही आशंका !

स्थानीय लोगों की परेशानियों को देखते हुए निर्दलीय पार्षद गुड्डू सिद्दीकी ने अधिकारियों को इस संबंध में अवगत करवाते हुए क्वारेंटाइन सेंटर को अन्यत्र शिफ्ट करने की मांग की है। इस पर अधिकारियों ने सेंटर का निरीक्षण करने की बात पार्षद से कही है।

Read More: 

 

यह भी पढ़ें :  दलहनी और तिलहनी फसलों के लिए मार्केट नहीं, धान बीज की डिमाण्ड तीन साल में हुई दो गुनी !

इस बारे में तहसीलदार पुष्पराज पात्रे ने बताया कि क्वारेंटाइन सेंटर में सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए हैं। यहां बचेली के 180 सीआईएसएफ जवानों को क्वारेंटाइन किया गया है। बचेली के सेंटर्स में जगह नहीं होने से जवानों को किरंदुल में शिफ्ट किया गया है। एक रूम में 2 या 3 जवानों को अब रखा जा रहा है। वहीं रूम को बहार से ताला भी लगाया जा रहा है।

Read More: 

 

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…