FIR पर बोले पूर्व IAS ओपी चौधरी- ‘सरकार जेल भेजना चाहती है तो मैं जाने को तैयार हूं’… उधर, CM भूपेश की दो टूक- ‘चौधरी ने अपराध किया है, कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए’

966

FIR पर बोले पूर्व IAS ओपी चौधरी- ‘सरकार जेल भेजना चाहती है तो मैं जाने को तैयार हूं’… उधर, CM भूपेश की दो टूक- चौधरी ने अपराध किया है, कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए’

रायपुर @ खबर बस्तर। कोयला चोरी का वीडियो सोशल मीडिया में पोस्ट करने के मामले में पूर्व आईएएस व भाजपा नेता ओपी चौधरी पर एफआईआर का मामला अब राजनीतिक रंग लेने लगा है।

भाजपा के प्रदेश मंत्री चौधरी ने इस मसले पर अपनी प्रतिक्रिया देते कहा कि वे जन सरोकार के मुद्दे उठाते रहेंगे। राज्य सरकार यदि उन्हें जेल भेजना चाहती है तो वे जेल जाने के लिए तैयार हैं।

फेसबुक लाइव के जरिए चौधरी ने अपना पक्ष रखते कहा, “कोयला चोरी के संबंध में पहले से वायरल एक वीडियो को पोस्ट करने पर मेरे खिलाफ कोरबा जिले में एफआईआर की जानकारी समाचार के माध्यम से मिली है। जन सरोकार के विषय को उठाना मैं अपना दायित्व और धर्म समझता हूं। राजनीति में आया हूं तो मैं ये करता रहूंगा।”

यह भी पढ़ें :  दर्दनाक सड़क हादसा: मायके से तीज मनाकर लौट रही 2 महिलाओं की मौत... एक्सीडेंट के बाद ट्रक ड्रायवर फरार

सीएम ने दिखाए कड़े तेवर

वहीं सीएम CM भूपेश बघेल ने भी इस मसले पर कड़े तेवर दिखाते कहा कि चौधरी पर कार्रवाई होनी चाहिए। रायपुर में मीडिया से चर्चा करते हुए सीएम ने कहा, “जितनी ईंट बजाना है बजा लें… लेकिन आप आईएएस अधिकारी रहे हैं। दो साल पुराना वीडियो अपलोड कर कहेंगे कि 2022 का है तो ये अपराध है। आप पर कार्रवाई होगी।”

CM Bhupesh Baghel holds meeting with ministers regarding appointment in Board corporation

सीएम बघेल ने कहा, “आप जान-बूझकर इस तरह का वातावरण बना रहे हैं। आप कानून के जानकार हैं… आप पर तो और कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।” एफआईआर पर भाजपाइयों के तल्ख बयानों को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा- “रमन सिंह उन्हे बचाने में लगे हुए हैं।”

यह भी पढ़ें :  CRPF जवान ने अपने ही साथियों को गोलियों से भूना… 4 जवानों की मौत, 3 जख्मी

जांच के लिए IG ने बनाई है टीम

इस मामले को गंभीरता से लेते हुए कोरबा IG रतनलाल डांगी ने जांच के आदेश दिए हैं। उन्होंने एंटी क्राइम एंड साइबर यूनिट (ACCU) प्रभारी को जांच की जिम्मेदारी दी है। जांच के लिए पुलिस अधिकारियों की भी मदद लेने के आदेश दिए हैं। वहीं जांच के बिंदु तय कर विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत करने के आदेश भी दिए हैं।

क्या है मामला ?

पूर्व IAS और भाजपा नेता ओपी चौधरी ने बीते 18 मई को अपने ट्विटर हैंडल पर एक VIDEO वायरल किया था, जिसे कोरबा जिले के गेवरा माइंस में कोयला चोरी का बताया गया था। यह VIDEO सोशल मीडिया में जमकर वायरल हुआ।

इस VIDEO के फर्जी होने का दावा करते हुए युवा कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष मधुसूदन दास यादव ने बाकीमोंगरा थाना में रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने इस शिकायत के आधार पर आनन-फानन में ओपी चौधरी पर धारा 505 (1) (बी) के तहत केस दर्ज कर लिया है। भाजपा इस कार्रवाई का विरोध कर रही है।

यह भी पढ़ें :  अच्छी खबर: कोरोना के जोखिम में होने लगा 'गुप्तदान', लॉक डाउन में फंसे 1000 दिहाड़ी मजदूर, मास्क व राशन मुहैया करा रही पालिका