यूक्रेन में हुई बमबारी में भारतीय छात्र की मौत… MBBS की पढ़ाई करने गया छात्र हुआ हमले का शिकार

1366
Indian Student Killed in Ukraine

यूक्रेन में हुई बमबारी में भारतीय छात्र की मौत… MBBS की पढ़ाई करने गया छात्र हुआ हमले का शिकार

न्यूज डेस्क @ खबर बस्तर। यूक्रेन और रूस के बीच छिड़े जंग के हालात ने भारत को भी एक जख्म दे दिया है। यूक्रेन पर रूस द्वारा किए गए हमले के दौरान एक भारतीय छात्र की मौत हो गई है। विदेश मंत्रालय द्वारा इसकी पुष्टि की गई है।

बता दें कि यूक्रेन युद्ध में पहले भारतीय नागरिक के मारे जाने की पुष्टि हुई है। मृत छात्र का नाम नवीन कुमार बताया जा रहा है। कर्नाटक का रहने वाला छात्र मेडिकल की पढ़ाई करने यूक्रेन गया हुआ था।

Indian Student Killed in Ukraine

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ट्वीट कर यूक्रेन के खरकीव में मंगलवार की सुबह हुए भीषण हमले में एक भारतीय छात्र की मौत की पुष्टि की।

यह भी पढ़ें :  CM भूपेश बघेल की ऊँची उड़ान, टॉप 10 मुख्यमंत्रियों की रैंकिंग में मिला दूसरा स्थान...जनप्रतिनिधियों ने दी बधाई

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया, ‘हम गहरे दुख के साथ इस बात की पुष्टि कर रहे हैं कि आज सुबह खरकीव में हुई बमबारी में एक भारतीय स्टूडेंट की मौत हो गई। मंत्रालय भारतीय छात्र के परिवार के संपर्क में है। हम परिवार से अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं।’

प्रवक्ता ने बताया, ‘विदेश मंत्रालय लगातार रूस और यूक्रेन के राजदूतों के साथ संपर्क में है और भारतीय नागरिकों को स्वदेश लाने के लिए सुरक्षित रास्ता निकाला जा रहा है।’ उन्होंने बताया कि कई छात्र अब भी खारकीव समेत दूसरे शहरों में फंसे हैं। रूस और यूक्रेन में मौजूद राजदूत भी इसी तरह के प्रयास में जुटे हैं।

यह भी पढ़ें :  दंतेवाड़ा में CISF के दो और जवानों को हुआ कोरोना, जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या हुई 6

जल्द से जल्द कीव छोड़ने की एडवाइजरी जारी

यूक्रेन की राजधानी कीव में बिगड़ती स्थिति के बीच मंगलवार को ही भारतीय दूतावास ने सख्त एडवाइजरी जारी की थी। जिसमें कहा गया था कि सभी भारतीय नागरिक और छात्र कीव को जल्द से जल्द छोड़ दें। एडवाइजरी में कहा गया था कि ट्रेन, बस आदि जो भी साधन मिले उसे तुरंत पकड़कर वे कीव छोड़ दें।

आपको बता दें कि यूक्रेन में करीब 20 हजार भारतीय लोग मौजूद थे, जिनमें से ज्यादातर वहां मेडिकल की पढ़ाई करने गए थे। इनमें से करीब 4000 से ज्यादा लोग वापस भारत लौट चुके हैं, जबकि शेष बचे लोगों को निकाला जा रहा है। मोदी सरकार ने इसके लिए ऑपरेशन गंगा की शुरुआत की है।

यह भी पढ़ें :  सुकमा में नियमों को दरकिनार कर जारी होता है पटाखा लाइसेंस... रिहायशी इलाके में पटाखों के भंडारण से हादसों का खतरा !

ऑपरेशन गंगा की आठवीं फ्लाइट बुडापेस्ट (हंगरी) से दिल्ली के लिए मंगलवार को ही रवाना हुई है। इससे पहले यूक्रेन से एक फ्लाइट 182 भारतीय छात्र को लेकर छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंची थी।