सुर्खियों में आई सड़क को ले JCC भी मैदान में ! नेता बोले, ‘‘ एक हफ्ते में हो कार्रवाई ’’

212
उसूर आवापल्ली सड़क।

सुर्खियों में आई सड़क को ले JCC भी मैदान में ! नेता बोले, ‘‘ एक हफ्ते में हो कार्रवाई ’’

पंकज दाउद @ बीजापुर। सुर्खियों में आई आवापल्ली-उसूर सड़क के मसले पर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ ने निर्माण में भ्रष्टाचार को ले उंगली उठाई है और प्रशासन से एक सप्ताह में जांच कर कार्रवाई का आग्रह किया है।

– प्रेसवार्ता में जेसीसी नेता।

जेसीसी के प्रदेश संयुक्त महासचिव नरेन्द्र भवानी ने बताया कि इस बारे में पार्टी के नेताओं ने कलेक्टर राजेन्द्र कटारा को आवेदन दिया है और एक सप्ताह में जांच कराने और इसकी रिपोर्ट सार्वजनिक करने की मांग की है। ऐसा नहीं होने की सूरत में पार्टी नेता कोरोना गाइडलाइन का पालन करते आंदोलन करेंगे।

यह भी पढ़ें :  तेलंगाना से सटे जारपल्ली में कोरोना ब्लास्ट, दो दिनों में 21 पाॅजीटिव मिले... मेडिकल टीम भेजी गई, परीक्षण में तेजी

नरेन्द्र भवानी ने कहा है कि करीब 9 करोड़ रूपए की लागत से बनी इस सड़क से पहली ही बारिश में डामर निकल गया। अब सिर्फ गिट्टी ही दिखती है। साढ़े 12 किमी बनी इस खस्ताहाल सड़क को लेकर बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं स्थानीय विधायक विक्रम मण्डावी की भी जवाबदेही बनती है। इस बारे में उन्हें सामने आना चाहिए।

– उसूर-आवापल्ली सड़क।

सड़क की मरम्मत के लिए ठेकेदार को पांच साल का समय दिया जाता है लेकिन पैच वर्क कर मामले को रफा दफा करने की कोशिश की गई। जेसीसी नेताओं ने कहा कि इस खुले भ्रष्टाचार पर पार्टी दोषियों पर कार्रवाई और रिकवरी की मांग करती है क्योंकि ये जनता का पैसा है। जांच सही तरीके से नहीं हुई तो आरटीआई से जानकारी ली जाएगी और एफआईआर भी दर्ज कराई जाएगी।

यह भी पढ़ें :  यह ASI पुलिसर्मियों के लिए बना रोल मॉडल, 48 किलो वजन घटाकर हुए फैट से फिट... कारनामा देख IG ने किया पुरस्कृत‚ तस्वीरें देख आप भी रह जाएंगे हैरान

जेसीसी की हालत ठीक नहीं

जेसीसी के प्रदेश संयुक्त महासचिव नरेन्द्र भवानी ने कहा कि 16 जनवरी को उन्होंने उसूर सड़क को ले पत्रवार्ता 20 जनवरी को लेने की बात कही थी लेकिन इसके पहले पूर्व वन मंत्री महेश गागड़ा ने थाने में शिकायत की और पत्रवार्ता ली। वे जनता को गुमराह कर रहे हैं।

इस सवाल पर कि इतने दिनों से जेसीसी इस मामले को लेकर मौन क्यों थी, तो नरेन्द्र भवानी ने कहा कि पार्टी की हालत ठीक नहीं है। इसी वजह से इसमें विलंब हुआ।

यह भी पढ़ें :  CM की सभा से पहले BJP से मोहभंग‚ फिर 4 सरपंचों ने थामा कांग्रेस का हाथ