खुशखबरी: इंद्रावती नेशनल पार्क में टाइगर जिंदा है ! बाघ के पगमार्क और मल देखे गए

102
Tiger's footmarks and feces sighted at Indravati National Park

खुशखबरी: इंद्रावती नेशनल पार्क में टाइगर जिंदा है ! बाघ के पगमार्क और मल देखे गए

पंकज दाऊद @ बीजापुर। वन्यजीव प्रेमियों के लिए इंद्रावती नेशनल पार्क से एक बड़ी आश्चर्यमिश्रित खुशखबरी आई है। यहां टाईगर रिजर्व के पासेवाड़ा रेंज में बाघ के पगमार्क और मल हाल ही में देखे गए हैं।

Tiger's footmarks and feces sighted at Indravati National Park

नेशनल पार्क में के बाघ विहीन होने की खबरों के बीच ये खबर आई है। पासेवाड़ा परिक्षेत्र के प्रभारी रेंजर कमल सिंह कश्यप की मानें तो 9 मार्च को नीतिकाकलेर गांव के समीप नाले के किनारे बाघ के पैर के निशान देखे गए।

यह भी पढ़ें :  Corona Virus अलर्ट: महाराष्ट्र और तेलंगाना बाॅर्डर सील, लोगों की ट्रेवल हिस्ट्री पर स्वास्थ्य विभाग की पैनी नजर!

Read More: 

यहां से करीब 20 किमी दूर हल्बीतुनीरगुट्टा के पास 17 मार्च की दोपहर बारह बजे बीट गार्ड सोनाधर मांझी एवं विश्वनाथ मांझी ने बाघ के मल देखे और इसकी सूचना रेंज कार्यालय को दी। इसके बाद रेंजर कमल सिंह कश्यप, डिप्टी रेंजर नरहरि बघेल एवं शंकर गुरला स्पाॅट पर गए।

यह भी पढ़ें :  1500 किसानों ने धान नहीं बेचा और फिर भी पिछले साल से अधिक खरीदी... 19 केन्द्रों से अब तक 47 फीसदी उठाव

Read More: 

रेंज प्रभारी कश्यप के मुताबिक नीति काकलेर गांव से करीब दो किमी पहले तेंदुए के पगमार्क और मल देखे गए। इस बारे में उच्चाधिकारियों को खबर दे दी गई है।

ये है पार्क का एरिया

बीजापुर जिले के 1258 वर्ग किमी एरिया को 1975 में नेशनल पार्क का दर्जा दिया गया। फिर 1983 में इसे टाइगर रिजर्व घोषित किया गया। पार्क की स्थापना के समय यहां बाघों की संख्या काफी थी। अब ये कम हो गए हैं। पार्क दुर्लभ वन भैंसों के लिए भी प्रसिद्ध है।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…
यह भी पढ़ें :  दो बसों की आपस में जोरदार टक्कर, दो यात्रियों की मौत, एक घायल... एनएच 30 पर हुआ हादसा

ख़बर बस्तर के WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए इस Link को क्लिक कीजिए….