अभ्यारण्य में बसे 16 गांव के लोग पहुंचे वनाधिकार पट्टे की आस में, MLA ने किया डायरेक्टर को तलब

60
Villagers in Sanctuary reached MLA seeking forest rights lease

बीजापुर @ खबर बस्तर। भैरमगढ़ वन भैंसा अभ्यारण्य में बसे 16 गांवों के लोग यहां विधायक निवास पहुंचे और एमएलए विक्रम शाह मण्डावी से वनाधिकार पट्टे की मांग की। विधायक मण्डावी ने इस समस्या का हल निकालने टाइगर रिजर्व के डिप्टी डायरेक्टर एनके शर्मा को तलब किया।

Villagers in Sanctuary reached MLA seeking forest rights lease

यह भी पढ़ें: थाईलैंड के मशहूर ‘ड्रैगन फ्रूट’ की खेती अब हो रही बस्तर के इस इलाके में…जानिए क्या है ‘ड्रैगन फ्रूट’ और क्यों खास है यह विदेशी फल

यह भी पढ़ें :  एनकाउंटर में 20 जवान शहीद, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

बता दें कि कोण्ड्रोजी, बिरियाभूमि, फुल्लोड़ एवं टिण्डोड़ी पंचायतों के 16 गांव के लोगों के सामने 2004 से नई मुसीबत खड़ी हो गई। यहां पहले टिण्डोड़ी समिति थी और तेंदूपत्ता फड़ भी लगता था लेकिन इसके बाद फड़ बंद कर दिया गया। इससे करीब 1500 संग्राहकों को सीधे घाटा होने लगा। अभ्यारण्य क्षेत्र में तेंदूपत्ता तोड़ाई बंद करा दी गई है और संग्राहकों को दो-दो हजार रूपए दिए जाने लगे।

यह भी पढ़ें :  रेड्डी गांव में सड़क नहीं, फरियाद लेकर विधायक के पास पहुंचे ग्रामीण

Read More :  ‘हनी ट्रैप’ का बस्तर कनेक्शन..? जानिए क्या है पूरा मामला !

गांव के लोगों का कहना है कि इससे उन्हें सीधा नुकसान हो रहा है। ना तो संग्रहण का दाम मिल रहा है और ना ही बोनस। गांव के लोगों ने विधायक विक्रम मण्डावी से मिलकर अपनी समस्या बताई। उन्होंने वनाधिकार पट्टे की भी मांग की।

Villagers in Sanctuary reached MLA seeking forest rights lease

ग्रामीणों ने बताया कि अभ्यारण्य होने से कई काम गांवों में नहीं हो रहे हैं। गांव के लोगों ने इस आशय का एक ज्ञापन कलेक्टर केडी कुंजाम को भी सौंपा है। ग्रामीणों के मुताबिक कलेक्टर ने पटवारी को भेजने की बात कही है।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…
यह भी पढ़ें :  गांजा तस्करी के खिलाफ दंतेवाड़ा में पहली बड़ी कार्रवाई... पुलिस ने 40 लाख का गांजा ट्रक समेत जब्त किया, आरोपी भी गिरफ्तार

ख़बर बस्तर के WhatsApp ग्रुप में जुड़ने के लिए इस Link को क्लिक कीजिए….