कांग्रेसियों ने किया केन्द्र की नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन… MLA मण्डावी बोले- केन्द्र ने पैदा की खाद की ‘कृत्रिम’ किल्लत, भूपेश सरकार को बदनाम करने भाजपा का नया सियासी पैंतरा

23

कांग्रेसियों ने किया केन्द्र की नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन… MLA मण्डावी बोले- केन्द्र ने पैदा की खाद की ‘कृत्रिम’ किल्लत, भूपेश सरकार को बदनाम करने भाजपा का नया सियासी पैंतरा

पंकज दाउद @ बीजापुर। छग में रासायनिक उर्वरकों की वक्त पर सप्लाई नहीं होने का जिम्मेदार केन्द्र की मोदी सरकार को ठहराते कहा है कि दरअसल राज्य में खाद की बनावटी कमी पैदा की गई है और इसके पीछे किसानों के बीच भूपेष सरकार को बदनाम करने का ये भाजपा का नया सियासी दांव है।


यहां कांग्रेस भवन के सामने केन्द्र की नीतियों को लेकर बस्तर क्षेत्र विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं स्थानीय विधायक विक्रम शाह मण्डावी के नेतृत्व में प्रदर्शन किया गया।

यह भी पढ़ें :  सुकमा में जवानों ने ध्वस्त किया नक्सली कैम्प, मौके से हथियार व विस्फोटक बरामद

विधायक विक्रम मण्डावी ने कहा कि किसानों के बीच भूपेश सरकार की लोकप्रियता में तेजी से इजाफा हो रहा है और ये बात भाजपा को नहीं पच रही है क्योंकि आने वाले चुनाव में भाजपा किसानों के बीच भूपेश सरकार को बदनाम कर कांग्रेस को पटखनी देने की जुगत में अभी से लग गई है।

Read More:

गांव में किसानों को ये नहीं पता है कि खाद की आपूर्ति के लिए जिम्मेदार कौन है, इसलिए किसानों को बताया जा रहा है कि उर्वरक की सप्लाई केन्द्र के हाथों में होती है। उन्होंने कहा कि तमाम अड़ंगों के बीच भूपेश सरकार ने किसी तरह 2500 रूपए के समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी की जबकि केन्द्र ने इसमें अपना हिस्सा नहीं दिया।

यह भी पढ़ें :  COVID-19 से जंग: माओवाद प्रभावित इलाकों में उतरे कोरोना वाॅरियर्स, इस तरह कर रहे ग्रामीणों की मदद

विधायक ने कहा कि कांग्रेस शु से ही किसान हितैषी रही है और इस पर अमल कर भी दिखाया है। प्रदर्शन के दौरान मुख्य रूप से जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुड़ियम, पालिका अध्यक्ष बेनहूर रावतिया, कांग्रेस जिलाध्यक्ष लालू राठौर, जिपं सदस्य नीना रावतिया उद्दे, प्रदेश कांग्रेस सचिव अजय सिंह, पार्षद प्रवीण डोंगरे, कांग्रेस नेता मंगल राना, मोहित चैहान, संतोष गुप्ता एवं अन्य कांग्रेसी मौजूद थे।

भूमिहीनों को सालाना 6 हजार

विधायक विक्रम मण्डावी ने कहा कि गांव में रहकर कुली मजदूरी करने वाले ऐसे परिवारों को भी साल में भूपेश सरकार 6 हजार देगी जिनके पास खेत नहीं हैं। उन्होंने कहा कि पहले केन्द्र ने उर्वरक के दाम बढ़ाए थे लेकिन बाद में इसे कम किया। अब किसी तरह अड़चन पैदा करने आपूर्ति तंत्र को ध्वस्त कर दिया है। वक्त पर उर्वरक नहीं मिलने से किसानों को बेहद परेशानी हो रही है। आने वाले दिनों में कांग्रेस उग्र प्रदर्शन करेगी।

यह भी पढ़ें :  देश में इमरजेंसी लोकतंत्र का काला दिवस, कांग्रेस की मनोवृत्ति अभी भी वही- भाजपा