यहां गुरूजी पड़ गए लोगों के पीछे ! काॅन्टेक्ट ट्रेसिंग के लिए घर-घर दस्तक

484

यहां गुरूजी पड़ गए लोगों के पीछे ! काॅन्टेक्ट ट्रेसिंग के लिए घर-घर दस्तक

पंकज दाउद @ बीजापुर। जिले में कोविड के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। अब तक मिले कोरोना के मरीजों के संपर्क में आए लोगों के बारे में शिक्षकों की कुछ टीमें जिले में पता लगा रही है और इसकी खबर स्वास्थ्य अमले को दे रही है।

कोविड प्रभारी विकास गवेल ने बताया कि अब तक जिले में 149 केस मिले हैं। इनमें से दो को कोविड हाॅस्पिटल में दाखिल किया गया है। एक को आक्सिजन पर रखा गया है। उन्होंने बताया कि 12 जनवरी को जिले में 20 नए केस सामने आए।

यह भी पढ़ें :  DRG के जवानों को मिली बड़ी सफलता, मुठभेड़ में 5 और 2 लाख की इनामी महिला नक्सली ढेर... शव समेत पिस्टल व भरमार बरामद

एक भी केस आने पर कंटेनमेंट जोन

किसी भी गांव या इलाके में एक भी केस आने एरिया को कंटेनमेंट जोन घोषित किया जा रहा है। यहां अभी पर्याप्त वैक्सिन मौजूद है। दो दिन पहले ही यहां 4200 डोज लाई गई। इसके पहले करीब 25 हजार डोज को विभिन्न ब्लाॅकों में वितरित किया गया है। जिले में रोजाना 700 से 1000 टीके लगाए जा रहे हैं।

कोरोना के फैलाव को रोकने के लिए महाराष्ट्र व तेलंगाना बाॅर्डर पर टीम तैनात की गई है। यहां से आने जाने वाले लोगों का परीक्षण किया जा रहा है। डाॅ विकास गवेल ने बताया कि शिक्षकों की कुछ टीमें मरीजों के संपर्क में आए लोगों के बारे में पता लगा रही है। फोन से या घर जाकर उनसे संपर्क किया जा रहा है। इनकी सूची बीएमओ को दी जा रही है। बीएमओ की टीम उन लोगों के घरों में जाकर परीक्षण कर रही है।

यह भी पढ़ें :  मुठभेड़ में मारा गया एक लाख का इनामी नक्सली, जवानों ने मौके से बरामद किए ये हथियार

‘गुपचुप’ बैठक

सीएमओ पवन कुमार मेरिया ने बताया कि गुपचुप, फल और सब्जी बेचने वालों की एक बैठक ली गई। उनसे नियमों का पालन करने कहा गया। भीड़भाड़़ ना करने की सलाह दी गई। व्यापारियों के साथ भी बैठक की गई। उनसे कहा गया कि मास्क लगाकर नहीं आने वाले ग्राहकों को सामान नहीं दें या फिर दुकान में ही मास्क रख उन्हें बेचें।

यह भी पढ़ें :  GAD कालोनी बनाने में विलंब, ठेकेदार के खिलाफ हो सकता है FIR... एसडीएम ने कलेक्टर से की अनुशंसा

बताया गया है कि शुक्रवार को पुलिस, ट्रेफिक, परिवहन विभाग और पालिका के अधिकारी आटो चालकों एवं बस ड्राइवरों की बैठक होगी। अभी समझाईश का दौर चल रहा है। ज्यादा सख्ती नहीं बरती जा रही है।