ASI कोरसा नागैया 3 साल बाद होने वाले थे रिटायर, 15 दिनों की ली थी छुट्टी… मंगापेटा के पास अपहरण, केतुलनार में मिला शव

43
Naxalites kidnapped and killed ASI

ASI कोरसा नागैया 3 साल बाद होने वाले थे रिटायर, 15 दिनों की ली थी छुट्टी… मंगापेटा के पास अपहरण, केतुलनार में मिला शव

पंकज दाऊद @ बीजापुर। कुटरू थाने में तैनात एएसआई कोरसा नागैया की अज्ञात नक्सलियों ने मंगापेटा के पास से अपहरण कर बीती रात हत्या कर दी। उनका शव केतुलनार के पास सड़क पर मिला। नागैया तीन साल बाद रिटायर होने वाले थे।

Naxalites kidnapped and killed ASI

सूत्रों के मुताबिक चेरामंगी, उसूर निवासी कोरसा नागैया (59) ने पंद्रह दिनों का अवकाश लिया था और वे रविवार की दोपहर दंतेवाड़ा के लिए बाइक से निकले थे। कुटरू से कोई 5 किमी दूर मंगापेटा के पास अज्ञात नक्सलियों ने उनका अपहरण कर लिया और बाइक वहीं छोड़ दी।

इधर, उनके अपहरण के बाद जब जवान सर्चिंंग कर रहे थे, तब सुबह घटनास्थल से करीब 2 किमी दूर केतुलनार के पास कोरसा नागैया का शव जवानों ने देखा। नक्सलियों ने हत्या के बाद एएसआई का आई कार्ड एवं अन्य सामान रख दिए थे।

यह भी पढ़ें :  विधायक कप: चेरामंगी और बीएसए के बीच खिताबी भिड़ंत

धारदार हथियार से हत्या

सोमवार की सुबह उनका पोस्टमार्टम किया गया। उनके शरीर में कहीं भी बुलेट एंज्यूरी नहीं पाई गई। हत्या सिर पर धारदार हथियार से वार कर की गई। नक्सलियों ने शव के पास एक पर्चा छोड़ा जिसमें माओवाद जिंदाबाद के नारे लिखे गए हैं।

Read More:

 

बताया गया है कि दो साल पहले ही एएसआई कोरसा नागैया की पोस्टिंग कुटरू में हुई थी और तब उन्होंने नई बाइक खरीदी थी। इसके पहले वे तारलागुड़ा में पदस्थ थे।

यह भी पढ़ें :  रिटायरमेंट के बाद फिर से सियासी पारी, लक्ष्मीनारायण लौटे CPI में

पत्नी और बेटे पहुंचे

एएसआई की पत्नी रामबाई कोरसा दंतेवाड़ा जिले के चितालंका में प्राथमिक शाला में शिक्षिका हैं और उनका बड़ा पुत्र प्रकाश भी दंतेवाड़ा में ही चोलामण्डलम फाइनेंस कंपनी में काम करता है। छोटा पुत्र बस आपरेटर है जबकि बेटी ज्योति का ब्याह जबलपुर में हुआ है। वे वहां स्टाफ नर्स हैं।

Read More:

एएसआई की पत्नी रामबाई रविवार की शाम को ही अपने छोटे पुत्र के साथ कुटरू आ गईं थीं जबकि बड़ा पुत्र प्रकाश सोमवार की सुबह 6 बजे पहुंचा। बेटे ने नक्सलियों से पिता को छोड़ने की अपील भी की लेकिन उन पर इसका कोई असर नहीं हुआ।

यह भी पढ़ें :  कोरोना अलर्ट: जेल में कैद आदिवासियों को रिहा करने की मांग, जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश कवासी ने सीएम को लिखा पत्र

कुटरू इलाके में दूसरी वारदात

पिछले सप्ताह रविवार को ही नक्सलियों ने कुटरू बाजार में एक सहायक आरक्षक सुुरेश कुमरे निवासी मंगापेटा की तब धारदार हथियार से हत्या कर दी जब वे सामान लेने बाजार आए थे। एक सप्ताह बाद ये दूसरी नक्सली वारदात है। बताया गया है कि इस इलाके में नेशनल पार्क दलम सक्रिय है और इसकी कमान कमाण्डर मंगी व दिलीप के हाथों में है।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…