शिक्षकों की कमी से शिक्षा की गुणवत्ता पर पड़ने लगा असर, शिक्षक संघ ने खाली पदों को भरने व पदोन्नति की मांग की

60

शिक्षकों की कमी से शिक्षा की गुणवत्ता पर पड़ने लगा असर, शिक्षक संघ ने खाली पदों को भरने व पदोन्नति की मांग की

पंकज दाऊद @ बीजापुर। छत्तीसगढ़ शिक्षक संघ ने ये स्वीकार कर लिया है कि शिक्षक संवर्ग के हजारों पद खाली होने के कारण शिक्षा की गुणवत्ता पर विपरित प्रभाव पड़ रहा है। इस बात को आधार बनाते संगठन ने खाली पदों को भरने एवं पदोन्नति की मांग की है।

इस बारे में शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष रैमन दास झाड़ी, सचिव कामेश्वर दुब्बा, कोषाध्यक्ष एमवी राव, उपाध्यक्ष अंगनपल्ली बसमैया, बीके ओयाम एवं उसूर ब्लाॅक अध्यक्ष सत्येम पूनेम ने शुक्रवार की शाम सर्किट हाउस में संसदीय सचिव एवं जगदलपुर विधायक रेखचंद जैन से मुलाकात की और अपनी समस्या से अवगत कराया।

यह भी पढ़ें :  छग को आर्थिक संकट की ओर ढकेलने की फिराक में मोदी सरकार, केन्द्र की अड़ंगेबाजी के बावजूद किसानों को मिला न्याय- विक्रम मण्डावी

संगठन के प्रतिनिधियों ने कहा है कि सरकार के आदेश के बाद भी शिक्षक संवर्ग की पदोन्नति एवं समयमान वेतनमान के केस लंबित हैं। इससे शिक्षकों मे आक्रोश है। इस समस्या का निदान अक्टूबर तक नहीं हो पाएगा, तो संगठन शिक्षा सचिव का घेराव करेगा।

Read More:

 

यह भी पढ़ें :  मुठभेड़ में कोबरा बटालियन के 2 जवान शहीद, एक नक्सली मारा गया

शिक्षक संघ के प्रतिनिधियों ने संसदीय सचिव से आग्रह किया है कि समस्या का समाधान होना चाहिए ताकि आंदोलन की स्थिति निर्मित ना हो सके। अभी प्रधान पाठक पूर्व माध्यमिक विद्यालय, शिक्षक, व्याख्याता एवं प्राचार्य के हजारों पद खाली हैं। इससे अध्ययन-अध्यापन एवं शैक्षिक प्रशासन प्रभावित हो रहा है। इसका सीधा असर शिक्षा की गुणवत्ता पर पड़ रहा है।

21 फरवरी 2019 को ई संवर्ग के प्राचार्य की पदोन्नति के लिए 540 लोगों की डीपीसी हो गई है लेकिन पदांकन नहीं हुआ है। 25 फरवरी 2019 को टी संवर्ग के प्राचार्य की पदोन्नति के लिए डीपीसी प्रस्तावित थी लेकिन इसे स्थगित कर दिया गया। शिक्षक संघ ने डीपीसी प्रक्रिया पूर्ण करवाकर पदोन्नति देने का आग्रह किया है। शिक्षक, पूर्व माध्यमिक शाला के प्रधान पाठक, व्याख्याता एवं प्राचार्य के प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय वेतनमान की भी मांग की है।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…
यह भी पढ़ें :  बीजापुर में कोरोना से बुजुर्ग की मौत, 85 नए मरीज मिलने से लोगों में दहशत