CM भूपेश बघेल के 4 सलाहकारों को मिला कैबिनेट मंत्री का दर्जा… पद्मश्री ममता चंद्राकर बनीं खैरागढ़ संगीत विश्वविद्यालय की कुलपति

69
4 advisors of CM Bhupesh Baghel got cabinet minister status

CM भूपेश बघेल के 4 सलाहकारों को मिला कैबिनेट मंत्री का दर्जा… ममता चंद्राकर बनीं खैरागढ़ संगीत विश्वविद्यालय की कुलपति

रायपुर @ खबर बस्तर। छत्तीसगढ़ की सुप्रसिद्ध लोक गायिका मोक्षदा चन्द्राकर (ममता चन्द्राकर) को अहम जिम्मेदारी मिली है। राज्यपाल अनुसुइया उइके ने ममता को इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ का कुलपति नियुक्त किया है।

4 advisors of CM Bhupesh Baghel got cabinet minister status

बता दें कि ममता चंद्राकर की पहचान एक लोक गायिका के तौर पर है। वे कई स्थानीय फिल्मों और एलबम में गीत गा चुकी हैं। ममता के पति प्रेम चंद्राकर फिल्म निर्माता हैं। जल्द ही ममता खैरागढ़ संगीत विश्वविद्यालय में पदभार ग्रहण करेंगी। यह विश्वविद्यालय संगीत व कला के क्षेत्र में एशिया की बड़ा संस्थान माना जाता है।

Read More: 

 

यह भी पढ़ें :  साल भर में मारे गए 50 से ज्यादा माओवादी, नक्सलियों ने प्रेस नोट जारी कर की पुष्टि... 28 जुलाई से 3 अगस्त तक शहीदी सप्ताह मनाने का किया ऐलान

देश-विदेश में अपनी कला का प्रदर्शन करने वाली ममता चंद्राकर आकाशवाणी में सहायक निदेशक (कार्यक्रम), कार्यक्रम प्रमुख भी रह चुकी हैं। उन्हें खैरागढ़ इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय द्वारा डी लिट की मानद उपाधि से भी सम्मानित किया गया है। ममता को भारत सरकार द्वारा 2016 में कला के क्षेत्र में पद्मश्री से नवाजा गया। वहीं 2013 में वे छत्तीसगढ़ रत्न से अलंकृत की गई हैं।

सरकार ने दिया सलाहकारों को मंत्री का दर्जा

इधर, भूपेश बघेल सरकार ने मंगलवार को एक और आदेश जारी कर सीएम के चार सलाहकारों को कैबिनेट मंत्री का दर्जा देने की घोषणा की है। बता दें कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के राजनीतिक सलाहकार विनोद वर्मा, योजना, नीति कृषि एवं ग्रामीण विकास सलाहकार प्रदीप शर्मा, मीडिया सलाहकार रुचिर गर्ग और संसदीय सलाहकार राजेश तिवारी को सरकार मंत्री का दर्जा देने जा रही है।

यह भी पढ़ें :  लापता जवान नक्सलियों के कब्जे में... माओवादियों ने मीडिया को फोन कर दी जानकारी, जवान को छोड़ने के बारे में कही ये बात!

Read More: 

सामान्य प्रशासन विभाग की ओर से इस बारे में आदेश जारी कर दिया गया है। इस आदेश के बाद चारों सलाहकारों को अब मंत्रियों को मिलने वाली तमाम सुविधाएं और सहुलियतें मिलने लगेगी। गौरतलब है कि कि सीएम बघेल ने शपथ ग्रहण के तत्काल बाद अलग-अलग क्षेत्रों में पारंगत 4 शीर्षस्थ लोगों को अपना सलाहकार नियुक्त किया था।

यह भी पढ़ें :  जगदलपुर में CAF जवान ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या...कैम्प में मचा हड़कंप, खुदकुशी का कारण अज्ञात

Read More: 

 

बता दें कि हाल ही में सरकार द्वारा कई विधायकों को संसदीय सचिव और संगठन के वरिष्ठ नेताओं को निगम, मंडल, आयोग का अध्यक्ष बनाया जा चुका है। इधर, सलाहकारों को मंत्री का दर्जा दिए जाने संबंधी सरकार के फैसले की सियासी वर्ग में काफी चर्चा है।

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…