DRG जवानों ने नक्सली कैंप पर धावा बोला, दवा व बर्तन छोड़ भागे माओवादी

54

DRG जवानों ने नक्सली कैंप पर धावा बोला, दवा व बर्तन छोड़ भागे माओवादी

दंतेवाड़ा @ खबर बस्तर। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में सुरक्षा बल के जवानों ने नक्सलियों के कैंप पर धावा बोल दिया। जंगल में जवानों की धमक के बाद माओवादी कैंप में सामान छोड़ भागने को मजबूर हो गए। मौके से नक्सल सामग्री बरामद की गई है।

दंतेवाड़ा एसपी डॉ अभिषेक पल्लव ने घटना की पुष्टि करते बताया कि किरन्दुल थाना क्षेत्र के टिकनपाल गच्चापारा की पहाड़ी में मलंगीर एरिया कमेटी के सचिव सोमडू, एसीएम कमलेश, संतोष, मुकेश, लक्खे समेत अन्य 10-12 सशस्त्र नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी। इस इनपुट के आधार पर शनिवार को डीआरजी के जवान सर्चिंग पर निकले थे।

यह भी पढ़ें :  CM हाउस के सामने युवक ने खुद को लगा ली आग, झुलसी अवस्था में अस्पताल में भर्ती

Read More:

 

एसपी के मुताबिक, जंगल में जवानों को आते देख नक्सली कैंप छोड़कर भाग गए। घटना स्थल के आसपास सर्चिंग के दौरान नक्सली कैंप से 7 नग पिठ्ठू बैग, नक्सली साहित्य, बर्तन, दवाईयां, टार्च, दर्पण समेत दैनिक उपयोग का सामान बरामद किया गया है।

IED ब्लास्ट में ग्रामीण की मौत

यह भी पढ़ें :  गोलगप्पे वाला निकला कोरोना पॉजिटिव, गुपचुप खाने वालों को होना पड़ेगा क्वारेंटाइन...शिक्षक समेत CRPF जवान भी मिले संक्रमित

शनिवार को ही कटेकल्याण थाना क्षेत्र के तेलम में IED बम की चपेट में आकर एक ग्रामीण की मौत हो गई। नक्सलियों ने IED को सुरक्षाबलों को नुकसान पहुंचाने की नीयत से प्लांट किया था। इस प्रेशर आईईडी की जद में आने से ग्रामीण हिड़मा माड़वी बुरी तरह जख्मी हो गया। विस्फोट से उसके पैर व कूल्हे में गंभीर चोट लगी थी। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

Read More:

आपको बता दें कि एक दिन पहले शुक्रवार को CAF और DRG जवानों की संयुक्त टीम ने इसी क्षेत्र में टेटम और तुमकपाल के बीच से 5 किलो का IED बरामद किया था। ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस पार्टी ने उक्त कार्रवाई की थी। SP अभिषेक पल्लव का कहना है कि ग्रामीणों का पुलिस पर भरोसा बढ़ा है, जिससे नक्सली बौखला गए हैं।

यह भी पढ़ें :  कैम्प के विरोध में सिलगेर में डटे हैं 10 हजार से अधिक ग्रामीण... राशन पानी ले लोगों का जमावड़ा, बड़े विरोध के संकेत