पत्रकारों को धमकी: कथित नक्सल पर्चे के खिलाफ लामबंद हुए पत्रकार… 6 फरवरी से चरणबद्ध आंदोलन की तैयारी

1562

पत्रकारों को धमकी: कथित नक्सल पर्चे के खिलाफ लामबंद हुए पत्रकार… 6 फरवरी से चरणबद्ध आंदोलन की तैयारी

बीजापुर @ खबर बस्तर। पत्रकारों के खिलाफ जारी कथित धमकी भरे नक्सल पर्चे को लेकर जिले भर के पत्रकार लामबंद हो गए हैं। स्थानीय पत्रकार भवन में हुई बैठक में पत्रकारों ने सर्वसम्मति से चरणबद्ध आंदोलन करने का निर्णय लिया है।

आपको बता दें कि शुक्रवार को सोशल मीडिया पर एक कथित नक्सल पर्चा वायरल हुआ, जिसमें नक्सलियों की ओर से बीजापुर के 15 पत्रकारों को धमकी भरे लहजे में चेतावनी दी गई है। साथ ही वसूली बंद करने का जिक्र भी पर्चे में किया गया है।

यह भी पढ़ें :  CM भूपेश बघेल ने PM मोदी को फिर लिखी चिट्ठी, राज्य के लिए 30 हजार करोड़ का मांगा पैकेज

नक्सलियों की पश्चिम बस्तर डिवीजन कमेटी के नाम से जारी इस पर्चे में कुछ बीजेपी कार्यकर्ताओं के नाम भी शामिल हैं। इस पर्चे के सामने आते ही पत्रकारों ने इस मसले पर आपात बैठक की और इसकी कड़ी निंदा करते हुए आगमी 6 फरवरी को भोपालपट्टनम ब्लाक मुख्यालय में एक दिनी सांकेतिक धरना प्रदर्शन करने का निर्णय लिया गया।

– कथित नक्सल पर्चा

बैठक में यह भी तय हुआ कि यह पर्चा नक्सलियों की ओर से जारी किया गया है कि नहीं, इसकी जवाबदारी माओवादियों की होगी। इस पूरे मामले की तह तक जाने के लिए पत्रकारों का एक डेलिगेशन नक्सल संगठन की केन्द्रीय कमेटी से वार्ता के लिए उनके मांद में जाएगा। इस डेलिगेशन में बीजापुर के अलावा दंतेवाड़ा और सुकमा जिले के चुनिंदा पत्रकार शामिल रहेंगे।

यह भी पढ़ें :  बीजापुर स्पोर्ट्स अकादमी को मिला सॉफ्टबॉल में पहला अंतरराष्ट्रीय मेडल

खतरों के बीच पत्रकारिता

पत्रकारों का मानना है कि दक्षिण बस्तर में कार्यरत पत्रकार तमाम जोखिमों के बीच पूरी ईमानदारी से पत्रकारिता धर्म निभा रहे हैं। इसके बावजूद कभी सरकार, कभी पुलिस और कभी नक्सली, पत्रकारों को अपना निशाना बना रहे हैं। ऐसी तमाम परिस्थितियों, मुद्दों को लेकर अब विरोध प्रदर्शन के साथ ही नक्सलियों से वार्ता के लिए पत्रकारों को बाध्य होना पड़ रहा है, जिसके जिम्मेदार खुद नक्सली भी हैं।

यह भी पढ़ें :  राहुल गांधी 3 फरवरी को आएंगे रायपुर... गांधी सेवाग्राम का करेंगे शिलान्यास, भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना की जारी करेंगे पहली किश्त