उद्योग समूहों की मीटिंग में बोले CM भूपेश बघेल, COVID-19 की गाईडलाइन का गंभीरता से हो पालन

43
Seriously follow COVID-19 guide line in industries

मुख्यमंत्री ने उद्योगपतियों से चर्चा कर जानी समस्याएं, हर संभव सहयोग का दिया आश्वासन

रायपुर @ खबर बस्तर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लॉकडाउन के बाद प्रदेश में शुरू हुए उद्योगों में कोरोना संक्रमण से बचाव की गाईड लाइन सहित सभी एहतियाती उपायों का गंभीरता से पालन करने की जरूरत पर बल दिया है।

बुधवार को यहां अपने निवास कार्यालय में आयोजित बैठक में सीएम बघेल उद्योगपतियों से चर्चा कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि लॉक डाउन के 60 से 70 दिनों बाद औद्योगिक गतिविधियां प्रारंभ हुई हैं, ऐसे में यह आवश्यक है कि उद्योगों में काम करने वाले संक्रमण से सुरक्षित रहें।

Read More:

 

मुख्यमंत्री ने चर्चा के दौरान उद्योगों की समस्याओं की जानकारी ली और उद्योगपतियों को उनके समाधान के लिए राज्य सरकार द्वारा हर संभव मदद का भरोसा दिया। सीएम ने कहा कि स्थानीय उद्योगों में काम करने वाले लोगों को बाहर से आने वालों के सम्पर्क से दूर रखा जाए। इनके मेडिकल चेकअप सहित अन्य गाइडलाइन का पालन किया जाए।

यह भी पढ़ें :  छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र बार्डर पर हुई मुठभेड़ में 7 माओवादी ढेर, हथियार बरामद... शहीदी सप्ताह के अंतिम दिन सुरक्षा बलों को मिली बड़ी कामयाबी

Seriously follow COVID-19 guide line in industries

इंडस्ट्रियल हब बने छत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार की यह मंशा है कि छत्तीसगढ़ इंडस्ट्रियल हब बने, यहां के स्थानीय लोगों को रोजगार मिले और राज्य सरकार को भी उद्योगों से राजस्व की प्राप्ति हो। सीएम ने कहा कि कोरोना संकट से यह सीख मिली है कि उद्योगों के संचालन में स्थानीय लोगों को प्राथमिकता दी जाए।

उद्योगपतियों ने चर्चा के दौरान कहा कि नई सरकार बनने के बाद प्रदेश में अच्छा औद्योगिक वातावरण बना है। सीएम ने कहा स्थानीय श्रमिकों को उद्योगों की आवश्यकता के अनुसार प्रशिक्षण देकर उनके कौशल का उन्नयन किया जाए। साथ ही स्थानीय विशेषज्ञों की सेवाएं भी ली जाएं। सीएम ने बताया कि बाहरी श्रमिकों की स्किल मैपिंग करने के निर्देश अधिकारियों को दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें :  झाड़फूंक के शक में 10 हज़ार की सुपारी लेकर किया खून... पुलिस ने दो आरोपियों को पहुंचाया सलाखों के पीछे, चार दिन में सुलझाई अंधे क़त्ल की गुत्थी!

Read More:

 

बैठक में उद्योगपतियों ने मुख्यमंत्री से आग्रह किया कि पुरानी औद्योगिक नीति के तहत स्थापित उद्योगों को उस समय की औद्योगिक नीति में दी जाने वाली रियायतों का लाभ मिलना चाहिए। उद्योगपतियों ने भूखण्डों को फ्री होल्ड करने के नियमों में संशोधन के लिए भी आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने उद्योगपतियों की इन समस्याओं के निराकरण के लिए गंभीरता पूर्वक विचार करने का आश्वासन दिया।

यह भी पढ़ें :  'वेलेंटाइन डे' पर मिलने नहीं आया बॉयफ्रेंड, छात्रा ने फांसी लगाकर की खुदकुशी... कमरे में मिला सुसाइड नोट !

Read More:

 

इस दौरान श्री सीमेंट लिमिटेड के रवि तिवारी, आरआर इस्पात के दिनेश अग्रवाल, मां कुदरगढ़ी एल्यूमिना रिफायनरी प्रायवेट लिमिटेड के अनिल अग्रवाल, एसकेएस इस्पात एण्ड पावर लिमिटेड के हरिहरण, प्रकाश इंडस्ट्रीज लिमिटेड एके चतुर्वेदी, गोपाल स्पंज एंड पावर लिमिटेड के विजय आनंद झावर, रामा पावर एंड स्टील प्रायवेट लिमिटेड के संजय गोयल, बजरंग एलायस लिमिटेड के नरेन्द्र गोयल, गोयल जेनिथ एग्रो प्रायवेट लिमिटेड के विरेन्द्र गोयल भी उपस्थित थे।

 

  • आपको यह खबर पसंद आई तो इसे अन्य ग्रुप में Share करें…

ख़बर बस्तर के व्हॉट्सएप्प ग्रुप में जुड़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए….